Press "Enter" to skip to content

मप्र में लागू नई शराब नीति पर उमा भारती ने शर्मिंदगी जताई, कहा मैं बेटियों के साथ, सरकार ज्यादा शराब बेचने में लगी

मध्य प्रदेश में लागू नई शराब नीति पर पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने शर्मिंदगी जताई है। उन्होंने कहा है कि वे महिलाओं और बेटियों के साथ हैं मगर सरकार राजस्व कमाई में लगी है। भाजपा की शिवराज सरकार को घेरते हुए कहा है कि वह नई नीति में यह कोशिश कर रही है कि कैसे ज्यादा शराब पिलाई जा सकती है।

मध्य प्रदेश में शराबबंदी के लिए कई बार तारीखें देने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने भोपाल में दो शराब दुकानों का विरोध किया था। बरखेड़ा पठानी पर तो उन्होंने एक शराब की दुकान पर पत्थर भी फेंका था। इसके पहले उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की थी और शराबबंदी को लेकर चर्चा की थी मगर आज से जब शिवराज सरकार की नई शराब नीति आई तो वे अपने गुस्से को रोक नहीं पाईं। उन्होंने तीन ट्वीट कर शराब नीति का विरोध किया है।

भारती ने कहा कि नारी शक्ति कर रही सर्वत्र विरोध

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने ट्वीट कर कहा है कि मध्य प्रदेश की सरकार इसमें लगी है कि कैसे ज्यादा से ज्यादा शराब लोगों को पिलाई जा सके। अहातों में ज्यादा शराब कैसे परोसी जा सके। इसकी व्यवस्था नई शराब नीति में की गई है। जबकि मध्य प्रदेश में सर्वत्र नारी शक्ति द्वार शराब का विरोध किया जा रहा है। भारती ने कहा कि वे मध्य प्रदेश की महिलाओं और बेटियों के साथ हैं।

गैर भाजपा शासित राज्यों में भाजपा का विरोध

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कहा कि छत्तीसगढ़ और दिल्ली में भाजपा की राज्य इकाइयां शराब नीति के विरोध में सड़क पर उतर आईं हैं। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस और दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकारें हैं जबकि मध्य प्रदेश में भाजपा की शिवराज सरकार है। भारती ने कहा कि वे शराब खोरी करने वाले बेटों के लिए चिंतित हैं और उनकी इज्जत व जान पर खेलकर मध्य प्रदेश में सरकार राजस्व कमाई में लगी है, इसके लिए उन्होंने खुद को शर्मिंदा बताया।

Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: