Press "Enter" to skip to content

Indore News – प्रदेश को मिली 2 हजार 300 करोड़ रुपये लागत की सड़क परियोजनाओं की बड़ी सौगात

सड़कों और इससे जुड़ी अधोसंरचनाओं में आधुनिक तकनिकों का किया जाए भरपूर उपयोग - गडकरी
गौरवशाली, वैभवशाली तथा समृद्धशाली देश का हो रहा है निर्माण – मुख्यमंत्री 

केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी एवं मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इंदौर में किया 5 सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास और वन वे साइड एमिनिटी का लोकार्पण

Indore Top Hindi News | केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज इंदौर में आयोजित एक गरिमामय समारोह में मध्यप्रदेश को लगभग 2 हजार 300 करोड़ रुपये लागत की 5 सड़क परियोजनाओं की बड़ी सौगात दी है। उन्होंने 119 किलोमीटर लंबी 5 सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास एवं वन वे साइड एमिनिटी का लोकार्पण किया।
इस अवसर पर लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री गोपाल भार्गव, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, लोक निर्माण राज्य मंत्री सुरेश धाकड़,  सांसद शंकर लालवानी, देवास के सांसद महेन्द्र ‍सिंह सोलंकी,  नवनिर्वाचित महापौर पुष्यमित्र भार्गव, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा, अंत्याव्यवसायी निगम के अध्यक्ष सावन सोनकर, विधायकगण श्रीमती मालिनी गौड़, रमेश मेंदोला, आकाश विजयवर्गीय, महेन्द्र हार्डिया, जीतू पटवारी, मनोज चौधरी तथा देवेन्द्र वर्मा, गौरव रणदिवे, पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता तथा जीतू जिराती, आईडीए के पूर्व अध्यक्ष मधु वर्मा सहित अन्य जनप्रिनिधि विशेष रूप से मौजूद थे। कार्यक्रम में सड़क परिवहन तथा राजमार्ग राज्य मंत्री वी.के. सिंह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से शामिल हुए। यह कार्यक्रम सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा आयोजित किया गया।
स्वराज को सुराज में बदलना हमारा मिशन – श्री गडकरी
कार्यक्रम को संबोधित करते हुये केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि स्वराज को सुराज में बदलना हमारा मिशन है। चौतरफा विकास हम सबकी महती जवाबदारी है। इंदौर ही नहीं बल्कि पूरे मध्यप्रदेश और समूचे देश में अधोसरंचनाओं का निर्माण तेजी से हो रहा है। यह हमारा जनता के प्रति उत्तरदायित्व है। जनता ने जो हमे दिया है, वह हम उन्हें लौटा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सड़कों के विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। सड़कों के निर्माण और इससे जुड़े अधोसंरचनाओं तथा परिवहन संबंधी परियोजनाओं में नई और उन्नत तकनिकों का इस्तेमाल किया जा रहा है। इससे जहां एक ओर लागत में बड़ी कमी आ रही है, वहीं दूसरी ओर गुणवत्ता में भी सुधार हो रहा है। उन्होंने आव्हान किया कि निर्माण की क्षेत्र में आधुनिक तकनीकों का भरपूर उपयोग किया जाए। इसके लिये जरूरी है कि विशेषज्ञों की मदद ली जाए, बेस्ट प्रेक्टिसेस का अध्ययन किया जाए। उन्होंने कहा कि पर्यावरण सुधार की ओर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है। प्रदूषण से मुक्ति के लिये वाहनों में ईंधन के गैर परम्परागत स्रोत का उपयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे जहां एक ओर सस्ता ईधन प्राप्त होगा, वहीं दूसरी ओर पर्यावरण सुधरेगा तथा यात्रियों की भी कम किराया देना होगा। इसके लिये इलेक्ट्रिक, बायो गैस, बायो डीजल, ग्रीन हाईड्रोजन, बायो मिथेनॉल आदि गैर पारम्परिक स्त्रोतों से संचालित वाहनों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब तेजी से दुनिया बदल रही है तो ऐसे वक्त में ट्रांसपोर्ट सेक्टर को भी तेजी से बदलना होगा। किसान को ऊर्जा दाता बनाना होगा। यह प्रयास करने की जरूरत है कि हम ऊर्जा का आयात करने वाला देश नहीं बल्कि निर्यात करने वाला देश बनाए। नए विजन के साथ कार्य करें।
श्री गडकरी ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा सड़कों और इससे जुड़ी अधोसरंचनाओं का तेजी से विकास हो रहा है। मध्यप्रदेश मे भी इस दिशा में तेजी से काम हो रहे हैं। 2014 के बाद अकेले मध्यप्रदेश में ही ढाई लाख करोड़ रूपये लागत के कार्य स्वीकृत, निर्मित तथा प्रगतिरत है। हमारा लक्ष्य है कि इसे बढ़ाकर 2024 तक चार लाख करोड़ रूपये कर दिये जाएंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के आग्रह पर मध्यप्रदेश में सड़क संबंधी विभिन्न विकास परियोजनाओं को मंजूरी देने की घोषणाएं की। इसमें प्रमुख रूप से 20 फ्लाईओवर को मंजूर करने तथा 14 जगहों पर रोपवे संबंधी कार्य भी शामिल है।
देश में हो रही विकास तथा प्रगति के कार्य किसी चमत्कार से कम नहीं – मुख्यमंत्री 
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में गौरवशाली, वैभवशाली तथा समृद्धशाली देश का निर्माण हो रहा है। देश में हो रही विकास तथा प्रगति के कार्य किसी चमत्कार से कम नहीं है। अकल्पनीय चहुमुखी विकास और प्रगति हो रही है। मध्यप्रदेश में भी विजन के साथ कार्य किये जा रहे है। केन्द्र शासन से भरपूर सहयोग मिल रहा है। उन्होंने कहा कि इंदौर विकास का इंजन है। आने वाले दस सालों में यह शहर बैंगलोर और हेदराबाद को पीछे छोड़ देगा। इंदौर मेरे सपनों का शहर का है। इसके विकास में कोई कोर-कसर नहीं रखी जायेगी। उन्होंने कहा कि हमारा सपना है कि परिवहन सेवा के लिये अब आसमान का उपयोग भी किया जाए। इसके लिये उन्होंने इंदौर में केबल कार के संचालन और पार्किंग के लिये मल्टीलेवल प्लाजा बनाने तथा बसपोर्ट की आवश्यकता भी बताई। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पिछड़े हुए चम्बल जैसे बीहड़ क्षेत्र के विकास का काम भी केन्द्र सरकार के सहयोग से हाथ में लिया गया है। इससे प्रगति के नए आयाम स्थापित होंगे।
उद्योग, व्यापार तथा रोजगार बढ़ेगा – वी.के. सिंह
कार्यक्रम को संबोधित करते हुये केन्द्रीय सड़क परिवहन राज्य मंत्री वी.के. सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश के 52 जिले नेशनल हाईवे से जुड़ गये है। केन्द्र सरकार से प्रयासों से यात्रियों को अब बेहतर सुविधाएं मिल रही हैं। इंदौर की भी चौतरफा कनेकटिविटी हो रही है। सड़कों का तेजी से विकास हो रहा है। इससे परिवहन सुधार में तो फायदा मिलेगा ही, वहीं दूसरी ओर धार पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र को भी लाभ मिलेगा। सड़को के निर्माण से उद्योग, व्यापार तथा रोजगार बढ़ेगा।
सड़कें विकास का मुख्य आधार –  गोपाल भार्गव
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि सड़कें विकास का मुख्य आधार है। प्रदेश में सड़क सहित बिजली, पानी आदि मुलभूत सुविधाओं का तेजी से विस्तार हो रहा है। सड़क निर्माण के लिये केन्द्र सरकार का भरपूर सहयोग प्राप्त हो रहा है। सड़कों के विकास से प्रदेश की तस्वीर बदल रही है। गुणवत्तापूर्ण सड़कें बन रही है। इससे यातायात सुगम हो रहा है और यात्रियों को जाम से मुक्ति मिल रही है।
कार्यक्रम के प्रारंभ में स्वागत भाषण देते हुए सांसद श्री शंकर लालवानी ने कहा कि आज इंदौर के इतिहास में एक नया अध्याय लिखा गया है। इंदौर को एक बड़ी सौगात मिली है। उन्होंने इंदौर के विकास के लिये बनाये गये विजन डाक्यूमेंट के अनुसार विभिन्न विकास कार्य स्वीकृत करने का आग्रह केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी से किया।
5 सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास एवं वन वे साइड एमिनिटी का लोकार्पण

लगभग 2300 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बनने वाले इन सड़क परियोजनाओं से प्रदेश में आधारभूत ढांचे की तस्वीर बदलेगी। सड़क तंत्र के मजबूत होने से उद्योगों के विकास को नई दिशा मिलेगी व उद्यमी प्रदेश में और अधिक निवेश के लिए आगे आएंगे, जिससे रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे तथा पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। इस कार्यक्रम में 5 सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास एवं वन वे साइड एमिनिटी का लोकार्पण किया गया। कार्यक्रम में इंदौर खलघाट खंड NH-3 मॉडल पर वन वे साइड एमिनिटी निर्माण कार्य का लोकार्पण किया गया। जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया। उनमें मुख्य रूप से इंदौर शहर में तेजाजी नगर से बलवाडा (इंदौर-बुरहानपुर खंड NH-347BG) पर 4 लेन का निर्माण कार्य, इंदौर राघोगढ़ (इंदौर हरदा खंड NH-47) पर 4 लेन का निर्माण कार्य, राऊ सर्कल (इंदौर) के 6 लेन फ्लाईओवर, DPS – राऊ सर्कल (इंदौर) पर 6 लेन पर सर्विस रोड का पुनः निर्माण एवं तेजाजी नगर से बलवाडा खंड (NH-3478G) पर मौजूदा सड़क का सुदढीकरण कार्य शामिल हैं।
प्रदर्शनी का अवलोकन
केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी तथा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में सड़क अधोसरंचनाओं के विकास संबंधी कार्यक्रम स्थल पर लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नीरज मण्डलोई ने परियोजनाओं की जानकारी दी।
Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: