Press "Enter" to skip to content

जूडा हड़ताल : इंदौर में स्वास्थ्य सेवाएं हुई प्रभावित, 500 डॉक्टर नहीं आए काम पर

एक माह में दूसरी बार जूनियर डॉक्टर अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर चले गए हैं। अपनी 6 सूत्रीय मांगों पर सरकार द्वारा लिखित आश्वासन नहीं मिलने के बाद यह कदम उठाया है।
जूनियर डॉक्टर एसो. इंदौर के अध्यक्ष डॉ. प्रखर चौधरी ने बताया कि 6 मई को जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन एमपी द्वारा प्रदेशव्यापी 6 सूत्री मांगें रखी गई थी और उनको न मानने पर विवश होकर हड़ताल करनी पड़ी थी। इन चीजों पर ध्यान देते हुए चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने एसीएस हेल्थ और मेडिकल एजुकेशन कमिश्नर और सारे अधिष्ठाता की सर्वसम्मति के साथ हमें वादा किया था कि आपकी मांगें मानी जाएंगी। इसलिए हमने उस समय हड़ताल समाप्त कर दी थी, लेकिन अभी तक हमें कोई लिखित आश्वासन नहीं मिला है। आज से इंदौर के लगभग 500 जूनियर डॉक्टर काम पर नहीं आए, जिससे एमवाय अस्पताल (MY Hospital) की ओपीडी सहित अन्य व्यवस्थाएं चरमरा गईं। उन्होंने कहा कि आज से हमने सभी इमरजेंसी सेवाएं बंद कर दी हैं और फिर भी कोई उचित कार्रवाई नहीं होती है तो आगे विवशतावश कोविड का उपचार भी बंद करना पड़ सकता है।

आगे पढ़े

Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: