Press "Enter" to skip to content

लीना के खिलाफ जारी होगा लुकआउट सर्कुलर, शिवराज सरकार लिखेगी अमित शाह को चिट्ठी

भोपाल। डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ के पोस्टर विवाद के बाद अब फिल्ममेकर लीना मणिमेकलाई की नई पोस्ट से फिर बवाल हो गया है। इसमें उन्होंने भगवान शिव-पार्वती को सिगरेट पीते दिखाया है। इसे मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विकृत मानसिकता करार देते हुए ट्विटर को पत्र लिखने की बात कही है। उन्होंने कहा कि मणिमेकलाई जैसी विकृत मानसिकता वाले लोगों की ऐसी पोस्ट को रोकने के लिए अपने स्तर पर प्रयास करने चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि लीना मणिमेकलाई अब जो भी कर रही है, वह जानबूझकर कर रही है। उनके खिलाफ केस तो पहले ही दर्ज कर लिया गया था। अब राज्य सरकार की ओर से हम केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर लुकआउट सर्कुलर (एलओसी) जारी करवाएंगे।
फोटो को ट्वीट करते हुए लीना मणिमेकमलाई ने लिखा- एल्सव्हेयर। इस फोटो में शिव और पार्वती के वेश धरे दो लोग सिगरेट पीते दिख रहे हैं। इस पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि इस तरह के ट्वीट धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाले होते हैं। कुछ विकृत मानसिकता के लोग इस तरह के ट्वीट लगातार करते है। जैसे काली फिल्म की डायरेक्टर लीना मणिमेकलाई ने किया है। पहले मां काली का सिगरेट पीते हुए फोटो डाला। अब शंकर भगवान की वेशभूषा में बीड़ी पीते फोटो ट्वीट कर रही हैं। ऐसी विकृत मानसिकता के लोग धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए ट्विटर का टूल की तरफ इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे ट्वीट को रोकना होगा। उनकी स्कैनिंग करनी होगी ताकि धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली सामग्री सोशल मीडिया पर न आए।
ट्विटर को भी पत्र लिखेंगे
गृह मंत्री मिश्रा ने कहा कि इस मुद्दे पर मैं ट्विटर को पत्र लिखने वाला हूं। ट्विटर से कहूंगा कि काली फिल्म की डायरेक्टर लीना मणिमेकलाई जैसी विकृत मानसिकता वाले लोगों की ऐसी पोस्टों को रोकने का अपने स्तर पर प्रयास करें जो लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाती है। एक अन्य सवाल पर उन्होंने कहा कि हम मध्य प्रदेश की ओर से केंद्र को पत्र लिखने जा रहे हैं कि लीना मणिमेकलाई के खिलाफ एक एलओसी (लुकआउट सर्कुलर) जारी करें। वह जो कर रही है, वह जान-बूझकर कर रही है। उस पर तत्काल कार्रवाई हो।
मध्य प्रदेश में हो चुके हैं दो केस
काली फिल्म को लेकर शुरू हुई कंट्रोवर्सी को लेकर मध्य प्रदेश में लीना मणिमेकलाई के साथ ही सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ अलग-अलग मामले दर्ज हुए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी स्पष्ट तौर पर कह चुके हैं कि धार्मिक भावनाओं को भड़काने की कोशिश को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
61 पुलिसकर्मियों को दिए जाएंगे रूस्तमजी पुरस्कार
दो साल बाद फिर रूस्तमजी पुरस्कार दिए जाएंगे। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि रूस्तमजी पुरस्कार कुछ दिनों से बंद था। यह पुरस्कार नक्सल विरोधी, आतंकवादी विरोधी, सांप्रदायिक दंगा और कानून-व्यवस्था की गंभीर परिस्थितियों में नियंत्रण में उल्लेखनीय उत्कृष्ट कार्य करने वालों को देने का तय किया गया है। इसमें 61 पुलिसकर्मियों को रखा गया है। इन्हें तीन श्रेणी में पुरस्कार परम विशिष्ठ श्रेणी, अति विशिष्ठ श्रेणी और विशिष्ठ श्रेणी में रखा गया है। इसमें 50 हजार से लेकर पांच लाख रुपये तक की राशि प्रदान की जाती है। यह पुरस्कार दोबारा दिए जाएंगे।
कांग्रेस हार को ईवीएम की तरफ ट्रांसफर न करें
मिश्रा ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि मुझे उनके मंदिर जाने से दिक्कत नहीं है, लेकिन कमलनाथ और उनकी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष इच्छाधारी हिंदू बनकर चुनाव में ही क्यों मंदिर जाते हैं। मिश्रा ने कमलनाथ के शराब बांटने और सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग के आरोप पर कहा कि कांग्रेस जब हारती है तो यहीं कहती है। इनके आप उपचुनाव से लेकर अब तक बयान देख लीजिए, सभी एक समान होंगे। अधिकारी यह न समझे, वह तारीख भी आएगी। यह बयान कांग्रेस की मानसिकता बताते हैं। कांग्रेस की हार सुनिश्चित है। उन्होंने विपक्ष के ईवीएम पर सवाल उठाने पर कहा कि कांग्रेस हार की बौखलाहट को ईवीएम की तरफ ट्रांसफर न करें। ईवीएम की सुरक्षा के सभी चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं।
Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: