Press "Enter" to skip to content

इंदौर की अन्य प्रमुख ख़बरें |

News – 1

सनाढ्य ब्राह्मण सभा के परिचय सम्मेलन में 190 रिश्ते तय, शताब्दी वर्ष प्रसंग पर 100 दीप जलाए 

Indore News. सनाढ्य ब्राह्मण समाज के शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में आज शुभकारज गार्डन पर अ.भा. परिचय सम्मेलन के आयोजन में करीब 1200 प्रत्याशियों ने मंच पर आकर प्रभावी ढंग से अपने-अपने परिचय दिए।
सांझ ढलते-ढलते इनमें से करीब 190 रिश्ते तय होने की सूचना मिली। मलमास होने के कारण इनकी सार्वजनिक घोषणा अभी नहीं की गई है।
इसके पूर्व शताब्दी वर्ष पर दतिया के ददरौआ सरकार महाराज एवं महामंडलेश्वर स्वामी रामचरणदास महाराज के सानिध्य में मातृशक्ति के हाथों 100 दीप प्रज्वलित किए गए, वहीं समाज को साढ़े चार बीघा जमीन का दान करने वाले जल संसाधन विभाग के पूर्व इंजीनियर पं. हरिशंकर पाराशर का सम्मान भी किया गया।

News – 2

कोरोना के सम्बन्ध में जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की बैठक सम्पन्न
कोविड की तीसरी लहर से निपटने की तैयारी को लेकर जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की बैठक कलेक्टर कार्यालय में सम्पन्न हुई। बैठक में जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा,कलेक्टर मनीष सिंह, विधायक महेंद्र हार्डिया, श्रीमती मालिनी गौड़,  रमेश मेंदोला, आकाश विजयवर्गीय, पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता, राजेश सोनकर तथा मनोज पटेल, गौरव रणदिवे, मधु वर्मा, एडिशनल पुलिस कमिश्नर मनीष कपूरिया, नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल उपस्थित थे। बैठक में बताया गया कि  शासकीय और अशासकीय अस्पतालो में पर्याप्त बेड्स और ऑक्सीजन की व्यवस्था है। कल से 650 बिस्तरों की क्षमता का राधास्वामी कोविड केयर सेंटर शुरू किया जाएगा। 15 से 18 साल के बच्चों के टीकाकरण पर भी चर्चा हुई।

News – 3

उच्च न्यायालय के न्यायालयीन समय में संशोधन
नवीन व्यवस्था 3 जनवरी से होगी प्रभावशील
मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय में लंबित मामलों के शीघ्र निराकरण और पक्षकारों को त्वरित न्याय दिलाये जाने की दृष्टि से मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा न्यायालयीन काम के घंटे बढ़ाने की पहल की गई है। इस उद्देश्य को हासिल करने के लिये मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय नियम, 2008 में संशोधन का सुझाव दिया गया है। पूर्व में उच्च न्यायालय के काम के घंटे सुबह 10.30 बजे से सायं 4.30 बजे तक थे, जिनमें विश्राम की अवधि दोपहर 1.30 बजे से 2.30 बजे तक थी। संशोधन के बाद मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय में अब सुबह 10.15 बजे से सायं 4.30 बजे तक न्यायालयीन कार्य होगा, जिसमें विश्राम की अवधि दोपहर 1.30 बजे से 2.15 बजे तक होगी। इस तरह प्रतिदिन आधा घंटा समय बढ़ने से लंबित प्रकरणों के निराकरण में इजाफा होगा। उक्त संशोधन मप्र राजपत्र की अधिसूचना 31 दिसम्बर 2021 में प्रकाशित हो चुकी है, जो अगले कार्य दिवस  3 जनवरी 2022 से प्रभावशील होगी।

News – 4

नियुक्ति
युवा सामाजिक कार्यकर्ता दीपक सिंह भदौरिया को राजपूत जिला परिषद ने कार्यकारी सदस्य के रूप में नियुक्ति की गई है। राजपूत जिला परिषद के सूत्रधार रामसिंह दिखित, अर्पिता सिकरवार, नगर अध्यक्ष महेंद्र सिंह बेस, ने बधाई दी।
Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: