Press "Enter" to skip to content

केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर ने किया फसल बीमा पाठशाला का शुभारंभ, फसल बीमा पाठशाला से किसान होंगे लाभान्वित : कृषि मंत्री श्री पटेल

भोपाल ।केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने आज नई दिल्ली में भारत सरकार के “किसान भागीदारी-प्राथमिकता हमारी” अभियान में “फसल बीमा पाठशाला” का शुभारंभ किया। केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में सवा दस करोड़ से ज्यादा किसानों को 1.15 लाख करोड़ रूपये का भुगतान हुआ है। केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने विभिन्न राज्यों के किसानों से संवाद किया। मध्यप्रदेश के किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल मंत्रालय से वर्चुअली शामिल हुए।
केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में खरीफ-2016 से खरीफ-2021 तक प्रतिवर्ष औसतन साढ़े 5 करोड़ किसानों ने बीमा योजना का लाभ लेने के लिये आवेदन किये। अब तक योजना में किसानों द्वारा जमा किये गये 21 हजार करोड़ रूपये के प्रीमियम भुगतान के बदले में 1.15 लाख करोड़ रूपये से अधिक की राशि के बीमा दावों का भुगतान किया जा चुका है। श्री तोमर ने फसल बीमा पाठशाला में योजना के लाभार्थी किसानों से कृषि दूत बनकर अन्य किसानों को प्रेरित करने का आव्हान किया।
मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री श्री पटेल ने किसानों को फसल बीमा योजना से लाभान्वित करने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर, केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्रीद्वय  कैलाश चौधरी एवं सुश्री शोभा करंदलाजे और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का मध्यप्रदेश के किसानों की ओर से धन्यवाद ज्ञापित कर आभार व्यक्त किया। मंत्रालय में संचालक कृषि श्रीमती प्रीति मैथिल नायक और कृषि विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि जब हमारा किसान आत्म-निर्भर होगा, तो गाँव आत्म-निर्भर होंगे और हमारा राष्ट्र भी आत्म-निर्भर होगा। उन्होंने कहा कि देश में 65 प्रतिशत से अधिक लोग खेती-किसानी का कार्य करते हैं। वैश्विक आपदा कोरोना काल में जब सभी घरों में थे, तब किसान और श्रमिक खेतों में पसीना बहा रहे थे। उस विपदा की घड़ी में भी अन्नदाता किसानों की बदौलत हमें अन्न, दूध और फल-सब्जियाँ प्राप्त हो सकी। श्री पटेल ने अन्नदाता किसानों का अभिनंदन करते हुए आभार व्यक्त किया।
कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सदैव किसानों की चिंता की है। उन्होंने किसानों को घाटे की खेती से उबारने और खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिये न केवल विभिन्न कल्याणकारी योजनाएँ बनाई, बल्कि उनका बेहतर मेंदानी क्रियान्वयन भी किया।
किसानों को सिंचाई के लिये पानी और बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित की गई है। शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराने का पुनीत कार्य भी किया है।
कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि सभी किसान भाई अपनी फसलों का बीमा अनिवार्य रूप से करायें और योजना से लाभान्वित हों।
Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: