Press "Enter" to skip to content

करोड़ों खर्च फिर भी सिरपुर तालाब की जलकुंभी नहीं हटी, कान्ह सरस्वती नदी में भी यही हाल

इंदौर। करोड़ों रूपए खर्च करने के बावजूद नगर निगम अपनी संपत्ति सिरपुर तालाब की जलकुुंभी तक नहीं हटा सका है। जलकुंभी हटाने वाली मशीन का ठीक से नियमित उपयोग तक नहीं किया जा रहा है।
कल कृष्णपुरा की कान्ह नदी से मशीन को जलकुंभी हटाने के बाद निकाला गया था फिर भी जलकुंभी और नदी में गाद की हालत ज्यों की त्यों है। सिरपुर तालाब को लेकर भी बार-बार नगर निगम प्रशासन ऐलान करता है कि जलकुंभी हटाई जाएगी लेकिन वह हटने का नाम भी नहीं लेती। सिरपुर तालाब में ड्रेनेज सीवरेज के पानी के मिलने से गंदगी फैल रही है। जलकुंभी की वजह भी इसी गंदे पानी को बताया जाता है। बार-बार गंदे पानी को सिरपुर तालाब में मिलने से रोकने की बात होती है। योजना का ऐलान होता है लेकिन जमीन पर काम नहीं दिखाई देता है। सिरपुर तालाब में पानी लाने वाली सारी चैनल सुखनिवास महल (डॉ. राजा रमन्ना प्रौद्योगिकी केंद्र) से लेकर सिरपुर तालाब तक पर अवैध कालोनियां बसा दी गई है। इन कालोनियों मंे ड्रेनेज, सीवरेज तो दूर की बात है ठीक से सफाई तक नहीं होती। कच्ची नालियों में घरों का पानी बहता है। इन अवैध कालोनियों में विदुर नगर से लेकर प्रजापत नगर तक दर्जनभर कालोनियां है। इन सभी कालोनियों की गंदगी सिरपुर तालाब में आकर मिलती है। जलकुंभी को स्थायी रूप से साफ करने के लिए मशीन को हर दिन चलाना जरूरी है। कान्ह नदी में भी जहां जहां जलकुंभी पैदा होती है वहां भी लगातार मशीन चलाना या मजदूरों को लगाना जरूरी है।
Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: