Press "Enter" to skip to content

मध्य प्रदेश में तीन सांसदों और विधायक को ग्वालियर हाईकोर्ट की नोटिस, ज्योतिरादित्य सिंधिया के निर्वाचन से जुड़ा है मामला

मप्र. मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह की याचिका पर तीन सांसदों और पूर्व विधायक को नोटिस जारी हुई है। यह नोटिस हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने जारी की है। यह नोटिस ज्योतिरादित्य सिंधिया, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह, राज्यसभा सांसद सुमेर सिंह सोलंकी और पूर्व विधायक फूल सिंह बरैया को भेजी गई है।

सिंधिया पर तथ्य छिपाने का आरोप

दरअसल मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की जबलपुर बेंच में डॉक्टर गोविंद सिंह ने याचिका लगाई थी। इसमें राज्यसभा सांसद के रूप में निर्वाचित हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया के निर्वाचन को चुनौती दी गई थी।
इसमें पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता गोविंद सिंह की ओर से दायर याचिका में आरोप लगाया गया था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राज्यसभा के निर्वाचन के दौरान नामांकन पत्र दाखिल करते समय कुछ तथ्य छिपाए गए। इस आधार पर सिंधिया के निर्वाचन को चुनौती दी गई है।

दावा-तब सिंधिया ने भी स्वीकारा था मामला

याचिका में कहा गया है कि 2018 में भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। इसे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सार्वजनिक रूप से स्वीकारा भी था।
लेकिन अब वह कांग्रेस में नहीं हैं और भाजपा से राज्यसभा के सांसद चुने गए हैं। अपने नामांकन में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उस मामले को छुपाया है। ऐसे में ज्योतिरादित्य सिंधिया का राज्यसभा चुनाव शून्य घोषित किया जाना चाहिए।
हाल ही इस याचिका को ग्वालियर बेंच में ट्रांसफर किया गया है। इस पर हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने सभी पक्षों को नोटिस जारी की है। वहीं गोविंद सिंह ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि कोर्ट ज्योतिरादित्य सिंधिया के राज्यसभा चुनाव को शून्य घोषित करेगा।
Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: