Press "Enter" to skip to content

Indore News – नदी-नालों में प्रदूषण करने वाले औद्योगिक इकाइयों के विरुद्ध सतत कार्रवाई

 

इंदौर में शुक्रवार को भी एक फैक्ट्री सील

जिला कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देश पर इंडस्ट्रियल वेस्ट डायरेक्ट डिस्चार्ज कर नदी-नालों में प्रदूषण करने वाले औद्योगिक इकाइयों के विरुद्ध सतत कार्रवाई की जा रही है। इसी क्रम में शुक्रवार को अपर कलेक्टर पवन जैन द्वारा टेक्नोक्राफ्ट प्राइवेट लिमिटेड फैक्ट्री को सौल किया गया। टेक्नोक्राफ्ट प्राइवेट इंडस्ट्रीज लिमिटेड के परिसर का औचक निरीक्षण करने के दौरान पाया गया कि न ही इस फैक्ट्री में कोईईटीपी प्लाट है तथा इंडस्ट्रियल बेस्ट को सौघा नाले में डिस्चार्ज किया जा रहा है।
मालूम हो कि गुरुवार को भी मांगलिया बायपास पर राकखेड़ी में इक और पेट का कच्चा माल बनाने वाले दो कारखानों में भी इंफ्लूएंट ट्रीटमेंट प्लांट (इटीपी) बंद पाए गए। इनमें किस और अतुल पालीकैम शामिल है। इन दोनों फैक्ट्रियों की भी उत्पादन यूनिट सोल कर दी गई। विस्कस आइल के संचालक राजकुमार पटेल और अतुल पालीकम के संचालक मुकेश पटेल है। प्रशासन और प्रदूषण नियंत्रण मंडल के जांच दल ने कुमेड़ी, भीरासला, मारी पिपल्या खेड़ी आदि जगह नालों और उद्योगों से पानी के नमूने लिए। अपर कलेक्टर पवन जैन ने बताया कि यदि कोई उद्योग नदी या नालों में केमिकल छोड़ते हुए मिला तो उनके संचालकों के खिलाफ रासुका की कार्रवाई भी की जाएगी।
Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: