Press "Enter" to skip to content

मंदसौर: चर्चित हत्याकांड के तीनों आरोपी गिरफ्तार, बदमाशों का बड़ा गैंगस्टर बनने का सपना

मंदसौर जिले के भानपुरा में 11 अप्रैल को हुई हिमांशु बैरागी की हत्या के मामले में पुलिस ने शनिवार को तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आपसी दुश्मनी के बाद तीनों ने मिलकर हिमांशु बैरागी की हत्या की थी। तीनों ही बदमाश बड़ा गुंडा बनने के सपने पाल हुए थे। हत्या के लिए चाकू ऑनलाइन मंगवाया था।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार भानपुरा के शीतला माता मोहल्ले में 11 अप्रैल की रात 22 वर्षीय हिमांशु बैरागी की चाकुओं से हत्या कर दी गई थी। हत्या करने वाले उसके दोस्त ही थे। उनकी पहचान विनय जादौन (19), दीपक गुर्जर (21) और अश्मीर मंसूरी (20) के रूप में हुई थी। आरोपियों ने बताया कि अगस्त में एक दोस्त की बर्थडे पार्टी के दौरान उनकी हिमांशु से मारपीट हुई थी। तब से ही उन्होंने रंजिश पाल रखी थी और मौका मिलते ही उसकी हत्या कर दी। हत्या का सीसीटीवी फुटेज भी वायरल हुआ था।

पुलिस ने बताया कि आरोपी बड़ा गुंडा बनने के सपने पाल रहे थे। उज्जैन के गैंगस्टर दुर्लभ कश्यप को अपना हीरो मानते हैं। हिमांशु की हत्या करने के लिए आरोपियों ने ऑनलाइन चाकू मंगाया था। पुलिस को पूछताछ में पता चला कि जिले में सोशल मीडिया पर ‘302’ नाम से एक ग्रुप एक्टिव है। तीनों आरोपी इसी ग्रुप से जुड़े थे। ग्रुप की प्रोफाइल पर लिखा हुआ है- “जो हमारी आंखों में खटकते हैं, वे सीधा श्मशान में जाकर भटकते हैं।”

आरोपी का घर भी तोड़ा जा चुका

हिमांशु वैष्णव हत्याकांड के मुख्य आरोपित विनय जादौन के मकान पर बुधवार को बुलडोजर चलाया गया। लगभग दो घंटे तक चली कार्रवाई में शासकीय भूमि पर लगभग 1650 वर्गफीट में बने पक्के मकान को जमींदोज कर दिया गया। दोपहर बाद शुरू हुई कार्रवाई के दौरान तमाम अधिकारी भी मौजूद रहे।
Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: