Press "Enter" to skip to content

गीता भवन में अब पूरे वर्ष योग एवं हड्डी तथा नाड़ी रोग विशेषज्ञ की निःशुल्क सेवाएं मिलेंगी 

सभी शिविरार्थियों को प्रतिदिन गाजर, चुकंदर, लौकी और करेले का ज्यूस भी मिलेगा 
इन्दौर। मनोरमागंज स्थित गीता भवन में रामदेव मन्नालाल गोयल चैरिटेबल ट्रस्ट एवं गोयल पारमार्थिक ट्रस्ट के सौजन्य से चल रहे दो दिवसीय निःशुल्क योग शिविर का समापन आज सुबह इस संकल्प के साथ हुआ कि अब गीता भवन में पूरे वर्ष नियमित रूप से सुबह 6.30 से 7.30 बजे तक योग एवं विभिन्न शारीरिक तथा मानसिक रोगों के निदान हेतु  शिविर निःशुल्क आयोजन किया जाएगा।
यही नहीं, शिविर में आने वाले लोगों को प्रतिदिन गाजर चुकंदर, लौकी एवं करेले का ज्यूस भी निःशुल्क मिल सकेगा। इसके साथ ही स्प्राउट्स अर्थात अंकुरित अनाज का नाश्ता भी प्रतिदिन दिया जाएगा।
गीता भवन ट्रस्ट के अध्यक्ष राम ऐरन, समाजसेवी प्रेमचंद गोयल एवं किशोर गोयल ने बताया योग विद्या गुरुकुल नासिक से योग शिक्षा में पारंगत श्रीमती मेघासिंह और उनके दो सहयोगी, योग चिकित्सक एवं नेचुरोपैथी काउंसलर तथा योग के मनोचिकित्सक के मार्गदर्शन में चल रहे दो दिवसीय शिविर का समापन आज हो गया, लेकिन  इसके साथ ही यह संकल्प भी किया गया है कि अब गीता भवन में योग के साथ विभिन्न रोगों के निदान हेतु प्रतिदिन सुबह 6.30 से 7.30 बजे तक योग चिकित्सक एवं नेचुरोपैथी काउंसलर डॉ. आशा बी. जैन तथा योग के मनोचिकित्सक डॉ. सी.एच. जैन के मार्गदर्शन में नंदिनी बड़ोदिया एवं दिव्या शर्मा के सहयोग से नियमित योग शिविर और 7.30 से 8 बजे तक लोगों की बीमारियों के निदान हेतु निःशुल्क परामर्श एवं उपचार की सुविधा भी यहां मिल सकेगी। ये दोनों श्रीमती मेघासिंह की टीम के ही सदस्य हैं।
इसके साथ ही प्रत्येक शुक्रवार को निःशुल्क हड्डी रोग निवारण शिविर का आयोजन भी सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक डॉ. गोविंद मीणा के मार्गदर्शन में किया जाएगा। डॉ. मीणा बिना दवाई-गोली एवं बिना आपरेशन के हड्डी से संबंधित रोगों का उपचार करने के विशेषज्ञ माने जाते हैं।
वे गीता भवन के साधना कक्ष में प्रत्येक शुक्रवार को अपनी निःशुल्क सेवाएं देंगे। इसी तरह एक अन्य नाड़ी रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रबोध कुमार नायक भी प्रत्येक गुरुवार को सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक निःशुल्क सेवाएं देंगे। इस तरह अब गीता भवन में पूरे वर्ष भर योग एवं नाड़ी तथा हड्डी रोग सहित 6 विशेषज्ञों की सेवाएं उपलब्ध रहेंगी।
प्रत्येक रविवार को अवकाश रहेगा। शिविर में नियमित आने वाले मरीजों से आग्रह किया गया है कि वे खाली पेट आएं, केवल पानी पीकर आ सकते है। इच्छुक लोग गीता भवन आकर अपना निःशुल्क पंजीयन करा सकते हैं।
Spread the love
%d bloggers like this: