Press "Enter" to skip to content

मध्यप्रदेश के युवाओं ने दंडवत होकर मांगा रोजगार

0

 16 total views

 

मांगों-समस्याओं को लेकर जिला मुख्यालय पर आए दिन तरह-तरह के प्रदर्शन होते रहते हैं। शुक्रवार को युवाओं द्वारा रोजगार की मांग को लेकर अनूठा प्रदर्शन किया। झंडा चौक से युवा रैली के रूप में कारंजा चौराहा पहुंचे और नायब तहसीलदार जगदीश बिलगावे को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। इस दौरान कुछ युवा पूरी रैली में दंडवत मार्च के रूप में कारंजा तक पहुंचे और जमीन पर दंडवत अर्थात लेटे-लेटे ही ज्ञापन दिया।

मप्र बेरोजगार संघ के तत्वावधान में युवाओं ने शहर के झंडा चौक में दोपहर 12 बजे से सभा का आयोजन किया। इस दौरान एग्री अंकुरण वेलफेयर एसोसिएशन कृषि छात्र संगठन के राधे जाट ने कहा कि रोजगार में पोस्ट आती है तो व्यापमं घोटाले होते हैं। पैसे वाले पोस्ट पा लेते हैं, गरीब बेरोजगार रह जाते हैं। व्यापमं का नाम पीईबी करने पर कहा कि डाकू का नाम राजा रखने से कुछ नहीं बदलता, सिस्टम बदलना जरुरी है। उन्होंने कहा कि बैंकिंक के लिए परीक्षा होती है, उसकी तिथि एक वर्ष पूर्व आ जाती है और साक्षात्कार के बाद पोस्ट मिल जाती है, लेकिन एग्रीकल्चर की पोस्ट 23 साल बाद आएगी, तो कैसे चलेगा। सरकार को चाहिए कि बेरोजगार आयोग बनाकर रोजगार देने की प्रक्रिया की जाए। बेरोजगार संघ के सुमेरसिंह बड़ोले ने कहा कि एग्रीकल्चर विभाग में व्यापम जैसा पीईबी ने घोटाला किया है। पीईबी को खत्म कर जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की जाए। ताकि युवाओं के सपने भ्रष्टाचार की भेंट नहीं चढ़े। सभा व रैली में शामिल युवा तख्तियां थामे हुए थे। सभा के बाद युवाजन रैली के रूप में कारंजा तक पहुंचे। इसमें कुछ युवा दंडवत करते हुए कारंजा पहुंचे और सोते हुए ही अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। 

आगे पढ़े

 

Spread the love

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.