Press "Enter" to skip to content

अमित शाह मप्र दौरे पर बोले – भाजपा सरकार ने मालवा से सिमी को खत्म किया, इसके सदस्य आतंकी घटनाओं में शामिल थे 

MP News – मप्र की भाजपा सरकार ने प्रतिबंधित संगठन स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) की आतंकवादी गतिविधियों को खत्म कर दिया है। प्रदेश का मालवा क्षेत्र में सिमी आतंकवादियों का मुख्य केंद्र था।
यह बात केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को भोपाल में कही। बरखेड़ा बोंदर में 27 एकड़ भूमि पर बनने वाले फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने के बाद वह वे रवींद्र भवन में एक समारोह को संबोधित कर रहे थे।
इससे पहले शाह ने पुलिस विभाग के आवास और प्रशासनिक भवनों से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास भी किया।

अमित शाह ने कहा कि प्रदेश का मालवा क्षेत्र आतंकी गतिविधियों का केंद्र बन गया था। जहां से सिमी से जुड़े आतंकियों को देश के अन्य हिस्सों में आतंकी घटनाएं करने के लिए भेजा जाता था।

सिमी के सदस्य देश भर में होनी वाली आतंकवादी गतिविधियों में शामिल थे, लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार ने सिमी को मालवा से उखाड़ फेंका है। गृह मंत्री ने कहा कि नक्सलवाद, आतंकवादियों से लड़ने के अलावा आंतरिक सुरक्षा और शांति बनाए रखने के लिए प्रदेश में 35 हजार से अधिक पुलिसकर्मी शहीद हुए हैं।
हालाकि, कुछ फिल्म निर्माता अपनी फिल्मों की सफलता के लिए पुलिसकर्मियों की गलत छवि दिखाते हैं, लेकिन पुलिसकर्मियों को 24 घंटे काम करना पड़ता है। जब लोग त्योहार मनाने में व्यस्त होते हैं ऐसे समय में पुलिसकर्मी ड्यूटी कर रहे होते हैं।

मध्य क्षेत्रीय परिषद की 23वीं बैठक में कुल 18 मुद्दों पर चर्चा हुई जिनमें से 15 का समाधान निकाल लिया गया

नक्सलवाद की समस्या को जड़-मूल से खत्म करना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में नक्सलवाद की समस्या से सख्ती से निपटने के साथ-साथ इन क्षेत्रों में विकास के लिए अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

इसके अच्छे परिणाम निकले हैं। जब 2009 में वामपंथी उग्रवादी हिंसा चरम पर थी, तब उग्रवादी हिंसक घटनाओं की संख्या दो हजार 258 थी जो 2021 में घटकर 509 हो गई।

शाह ने कहा कि सभी राज्य अपनी भौगोलिक स्थिति, सकल घरेलू उत्पाद में योगदान और देश के विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं। प्रधानमंत्री ने हमेशा सहकारी संघवाद की भावना को मजबूत करने का काम किया है।

टीम इंडिया की अवधारणा को सामने रखकर इसे चरितार्थ किया है। राज्यों के साथ मिलकर नक्सलवाद की समस्या को पूरी तरह समाप्त करने के प्रति केंद्र सरकार कटिबद्ध है।

2009 में उग्रवादी हिंसा में एक हजार पांच लोगों की मृत्यु हुई थी। जबकि यह 2021 में घटकर 147 हो गई। केंद्र सरकार नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा बलों को और मजबूत करने की दिशा में काम कर रही है। पिछले तीन साल में 40 नए कैंप खोले गए हैं तथा 15 और खोले जाने हैं।

मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव स्वयं करें समीक्षा

बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि महिलाओं और बच्चों से जुड़े अपराधों की समीक्षा मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव स्वयं करें। मुख्यमंत्री प्रतिमाह और मुख्य सचिव 15 दिन में प्रकरणों की स्थिति देखें। दो माह में विवेचना पूरी होनी चाहिए।

फसल अवशेष प्रबंधन की योजना में मप्र को शामिल करें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि फसल अवशेष (पराली) जलाने की घटनाओं में वृद्धि हुई है। पंजाब के बाद मध्य प्रदेश दूसरे स्थान पर है। केंद्र सरकार की फसल अवशेष प्रबंधन की योजना में मध्य प्रदेश को भी जोड़ा जाए।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि इस पर विचार कर लेंगे। वहीं, सभी राज्यों ने प्रति क्विंटल धान की मिलिंग पर 67 प्रतिशत चावल लेने की मात्रा को घटाने की बात उठाई।

इस पर केंद्रीय अधिकारियों ने बताया कि हमारे अध्ययन के अनुसार प्रति क्विंटल पर 70 प्रतिशत चावल निकलता है। शाह ने कहा कि सबके साथ मिलकर मात्रा को तय करें।

भोपाल-रायपुर में अंतरराष्ट्रीय कार्गो टर्मिनल होना चाहिए

बैठक में सहमति बनी की भोपाल और रायपुर में अंतरराष्ट्रीय कार्गो टर्मिनल होना चाहिए। मध्य प्रदेश की ओर से बताया गया कि इंदौर विमानतल से केवल इंदौर-दुबई के मध्य एयर इंडिया की सप्ताह में तीन दिन उड़ान संचालित हो रही है।

यह अंतरराष्ट्रीय विमानतल घोषित नहीं है बल्कि कस्टम नोटिफाइड विमानतल घोषित किया गया है। भोपाल विमानतल पर भी अधोसंरचना तैयार है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि प्रत्येक राज्य में कम से कम एक अंतरराष्ट्रीय विमानतल होना चाहिए।

Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: