Press "Enter" to skip to content

शिंदे को बगावत पर मुख्यमंत्री पद तो एमपी में भी सिंधिया जी को सीएम बना सकती थी भाजपा : दिग्विजय सिंह

भोपाल। महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे के सीएम बनने पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह ने मध्यप्रदेश के संदर्भ में कटाक्ष करते हुए कहा कि 39 विधायकों के साथ बगावत करने वाले एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बन गए हैं तो 106 विधायकों के बावजूद भाजपा नेता और पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस को उपमुख्यमंत्री बनाया गया है। दिग्विजय सिंह ने अब कांग्रेस से बगावत कर भाजपा की सरकार बनवाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर चुटकी ली है। उन्होंने कहा है कि सिंधिया को भी मुख्यमंत्री बनाना चाहिए था और शिवराज सिंह चौहान को उपमुख्यमंत्री।
दिग्विजय सिंह ने सोमवार को कहा कि यह भाजपा का अन्याय और दोहरा मापदंड है। उन्होंने कहा, ‘भाजपा बड़ा अन्याय करती है। एकनाथ शिंदे जी को बगावत करने पर मुख्यमंत्री पद दे कर देवेंद्र फडनवीस को उपमुख्यमंत्री बना दिया। मध्यप्रदेश में भी सिंधिया जी को मुख्यमंत्री बना कर शिवराज चौहान जी को उपमुख्यमंत्री बना सकते थे। लेकिन नहीं किया। सरासर दोहरा मापदंड है।’ दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट के साथ सिंधिया को लेकर एक न्यूज वीडियो को भी शेयर किया जिसमें केंद्रीय मंत्री इस मुद्दे पर मीडिया कर्मियों को जवाब दे रहे हैं।
एक दिन पहले ही केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ने ग्वालियर में पत्रकारों से बातचीत में शिंदे और फडणवीस को शुभकामनाएं देते हुए उम्मीद जताई कि यह सरकार अच्छा काम करेगी। इस दौरान जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें भी मुख्यमंत्री बनाए जाने की उम्मीद है तो उन्होंने खुद को जनता का सेवक बताते हुए कहा कि ना तो उन्होंने ना ही उनके परिवार से किसी व्यक्ति ने कभी किसी पद की लालसा की है। सिंधिया ने कहा, ”मैं आपका सेवक हूं। मैं ग्वालियर की जनता का सेवक हूं। मैं मध्य प्रदेश की जनता का सेवक हूं। ना कभी राजमाता जी ने, ना कभी मेरे पिता जी ने, ना मैंने कभी कभी कुर्सी या पद का सोचा है। मैं केवल सेवक हूं और केवल सेवक के आधार पर 30 साल जनसेवा के पथ पर चला हूं। जो भी जिम्मेदारी मुझे दी गई थी उसे पूर्ण निभाने की कोशिश की है। मेरे लिए कोई उपाधि सबसे महत्वपूर्ण है तो वह है जनसेवा की।”
Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: