Press "Enter" to skip to content

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नोहटा में भारी अनियमितता का मामला, कलेक्टर और सीएमएचओ दमोह से जवाब-तलब

एक माह में बताये – ये अनियमितता क्यूं हो रही है ?

दमोह जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, नोहटा में भारी अनियमिततायें होने का मामला सामने आया है। यहां केन्द्र परिसर  में चारों ओर भारी गंदगी पसरी रहती है और भवन की छत पर  शराब की कई बोतलें फैली रहती हैं। गंदगी का आलम यह है कि जैसे इस केन्द्र में किसी बीमारी का इलाज नहीं किया जाता, बल्कि बीमारी को निमंत्रण दिया जाता है।

अस्पताल परिसर में आवारा मवेशी आराम फरमाते हैं। इस अस्पताल में न डाक्टर रहते है, न कोई जांच होती है, न मरीजों को दवाइयां दी जाती है और न ही यहां पीने के पानी की सुविधा है।

मामले में संज्ञान लेकर
मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के माननीय अध्यक्ष न्यायमूर्ति नरेन्द्र कुमार जैन ने कलेक्टर और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) दमोह से उपरोक्त अनियमितताओं के संदर्भ में जवाब-तलब कर एक माह में तथ्यात्मक प्रतिवेदन मांगा है।

Spread the love
%d bloggers like this: