Press "Enter" to skip to content

PM आवास योजना में भ्रष्टाचार : CM शिवराज ने मंच से किया था सस्पेंड, EOW ने जेल भेजा

जबलपुर. प्रधानमंत्री आवास योजना में धांधली करने वाले दो पूर्व CMO और दो उपयंत्रियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. EOW ने ये कार्रवाई की.
चारों आरोपी जैरोन नगर परिषद निवाड़ी जिले के हैं. जनता की शिकायत पर सीएम शिवराज ने भरी सभा में मंच से सबको सस्पेंड कर दिया था. मामले की जांच के बाद कोर्ट के आदेश पर अब सभी को जेल भेजा गया.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की बीते दिनों जेरोन में जनसभा हुई थी. उसमें जनता ने इनके खिलाफ शिकायत की थी.

इस पर सीएम ने CMO और तहसीलदार को निलंबित कर दिया था और मंच से ही जांच के आदेश किए थे. सीएम का आदेश होते ही कार्रवाई शुरू हो गयी थी.

भ्रष्टाचार की जांच

EOW एसपी देवेंद्र प्रताप सिंह राजपूत ने बताया कि जैरोन खालसा नगर परिषद जिला निवाड़ी में प्रधानमंत्री आवास योजना में धांधली की शिकायत जनता ने सीएम शिवराज से की थी.
उन शिकायतों के बाद प्रशासन ने मामले की जांच आर्थिक अपराध ब्यूरो को सौंप दी थी. आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ ने धारा 420, 120 बी, 457, 468, 471 भारवि एवं 7 (सी) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, 1980 संशोधित 2018 में कुल 13 आरोपियों के विरुद्ध केस दर्ज कर जांच में ली थी. भ्रष्टाचार के इस मामले की जांच निरीक्षक स्वर्ण जीत सिंह धामी ने की थी.

चारों को जेल

जांच में मिले साक्ष्यों के आधार पर इस केस के आरोपी उमाशंकर मिश्रा तत्कालीन मुख्य नगर पालिका अधिकारी नगर परिषद जैरोन खालसा, नवाब सिंह तत्कालीन मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर परिषद जैरोन खालसा, सृजन गुप्ता पत्री और अभिषेक सिंह राजपूत उपयंत्री को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. शेष अन्य आरोपियो की भी जल्द गिरफतारी की जाएगी
Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: