Press "Enter" to skip to content

Dinesh Kumar Khara होंगे SBI के नये Chairman, जानिए कौन हैं Khara ?

Last updated on September 2, 2020

State Bank Of India (SBI) के नए चेयरमैन होंगे दिनेश कुमार खारा. अभी वह SBI में वरिष्ठतम प्रबंध निदेशक हैं. बैंक बोर्ड ब्यूरो (बीबीबी) ने SBI के अगले चेयरमैन पद के लिए खारा के नाम की सिफारिश की है. खारा SBI के मौजूदा चेयरमैन रजनीश कुमार का स्थान लेंगे, जिनका तीन साल का कार्यकाल 7 अक्टूबर को पूरा हो रहा है. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और वित्तीय संस्थानों के शीर्ष अधिकारियों का चयन करने वाले बैंक बोर्ड ब्यूरो के सदस्यों ने शुक्रवार को एसबीआई के चार प्रबंध निदेशकों का साक्षात्कार लिया. बीबीबी ने बयान में कहा, ”उनके प्रदर्शन और कुल अनुभव के आधार पर ब्यूरो एसबीआई के चेयरमैन के रिक्त होने जा रहे पद के लिए दिनेश कुमार खारा के नाम की सिफारिश करता है.

इसके अलावा सी श्रीनिवासुलु शेट्टी इस पद के लिए आरक्षित उम्मीदवार की सूची में होंगे.” इस नियुक्ति पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली कैबिनेट की नियुक्ति समिति करेगी. परंपरा रही है कि एसबीआई के चेयरमैन की नियुक्ति बैंक के प्रबंध निदेशकों में से की जाती है. दिलचस्प तथ्य यह है कि खारा 2017 में भी चेयरमैन पद के दावेदारों में शामिल थे. खारा को अगस्त, 2016 में तीन साल के लिए एसबीआई का प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया था. उनके प्रदर्शन की समीक्षा के बाद 2019 में उन्हें दो साल का विस्तार दिया गया था. दिल्ली विश्वविद्यालय के फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज से पढ़ाई कर चुके खारा एसबीआई के वैश्विक बैंकिंग प्रभाग के प्रमुख हैं. वह बोर्ड स्तर के पद पर हैं और एसबीआई की गैर-बैंकिंग अनुषंगियों के कारोबार को देखते हैं. बैंक के प्रबंध निदेशक पर नियुक्ति से पहले खारा एसबीआई फंड्स् मैनेजमेंट प्राइवेट लि. के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) थे. खारा 1984 में एसबीआई के साथ परिवीक्षाधीन अधिकारी (पीओ) के रूप में जुड़े थे. नए एसबीआई चेयरमैन के समक्ष एक बड़ी चुनौती होगी, क्योंकि कोविड-19 महामारी की वजह से बैंकिंग क्षेत्र गंभीर संकट के दौर में है. 30 जून, 2020 तक एसबीआई ने कोविड-19 की वजह से होने वाले संभावित नुकसान के लिए 3,000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था. बीबीबी के प्रमुख कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के पूर्व सचिव भानु प्रताप शर्मा हैं. इसके सदस्यों में वित्तीय सेवा विभाग के सचिव, लोक उपक्रम विभाग के सचिव, रिजर्व बैंक के बैंकिंग प्रभाग का कामकाज देखने वाले डिप्टी गवर्नर शामिल हैं. समिति के अस्थायी सदस्यों में क्रेडिट सुइस की पूर्व प्रबंध निदेशक वेदिका भंडारकर, एसबीआई के पूर्व प्रबंध निदेशक पी प्रदीप कुमार और रेटिंग एजेंसी क्रिसिल के संस्थापक प्रबंध निदेशक प्रदीप पी शाह हैं.

Spread the love

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: