Press "Enter" to skip to content

Education News – UPSC सिविल सेवा मुख्य परीक्षा टालने की मांग को लेकर उम्मीदवारों ने लगाई दिल्ली हाई कोर्ट से गुहार

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2021 की तैयारी में जुटे उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण अलर्ट। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा सिविल सेवा परीक्षा 2021 की प्रधान परीक्षा को कोविड-19 के नए वैरीएंट ओमीक्रॉन के संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर स्थगित किए जाने की मांग को लेकर दिल्ली उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की गयी है। ऐसे में जबकि यूपीएससी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के दो दिन में शुरू होने जा रही है, इसके पहले चरण यानि प्रारंभिक परीक्षा में सफल घोषित कुछ उम्मीदवारों द्वारा ही दायर की गयी याचिका में मांग की गयी है कि परीक्षा को ओमीक्रॉन के तेजी से फैलते संक्रमण के कारण स्थगित किया जाए। बता दें कि यूपीएससी द्वारा सिविल सेवा परीक्षा 2021 का आयोजन 7 जनवरी से 16 जनवरी 2022 तक तीन-तीन घंटे की दो पालियों में किया जाना है।

दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ती डीएन पटेल की अध्यक्षता वाली खण्डपीठ के समक्ष सुनवाई के लिए प्रस्तुत की गयी इस याचिका को परीक्षा शुरू होने के एक दिन पहले ‘अर्जेंट हियरिंग’ के लिए सूचीबद्ध किया गया है। इस मामले की सुनवाई कल यानि 6 जनवरी 2022 को होनी है। याचिकाकर्ताओं द्वारा याचिका में कहा गया है कि ऐसे में जबकि देश में कोविड-19 की तीसरी लहर शुरू हो रही है, परीक्षा के आयोजन का यह सही समय नहीं है।

दूसरी तरफ, सिविल सेवा प्रधान परीक्षा 2021 की तैयारी में जुटे देश भर से उम्मीदवार परीक्षा को फिलहाल टाले जाने की मांग कर रहे हैं। इन उम्मीदवारों द्वारा सोशल मीडिया के जरिए परीक्षा स्थगित किए जाने की गुहार सरकार से लगायी जा रही है।

ऐसे में अब कुछ उम्मीदवारों द्वारा दिल्ली उच्च न्यायालय में दायर याचिका पर 6 जनवरी 2022 होने वाली सुनवाई के बाद परीक्षा के आयोजन या टाले जाने पर निर्णय आएगा।

Spread the love
More from Education NewsMore posts in Education News »
%d bloggers like this: