Press "Enter" to skip to content

Faridabad Murder Case: आरोपी तौसीफ का कबूलनामा किसी और से शादी करने जा रही थी निकिता इसलिए उसे मारा

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में 20 साल की छात्रा नितिका तोमर की दिनदहाड़े हुई हत्या घटना पर पूरे देश में गुस्सा देखा जा रहा है। पीड़ित लड़की के परिवार वालों ने इसे ‘लव जिहाद’ का मामला बताया है। रिपोर्टों के मुताबिक आरोपी तौसीफ ने हत्या की बात कबूल ली है और पुलिस से पूछताछ में उसने हत्या की वजह बताई है। सूत्रों के मुताबिक तौसीफ का कहना है कि निकिता की शादी किसी और से होने वाली थी और यह बात उसे पसंद नहीं थी। पुलिस ने तौसीफ के दूसरे सहयोगी एवं आरोपी रेहान को भी गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना के बाद से हरियाणा पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं। बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता की हत्या उस समय हुई जब वह सोमवार दोपहर पेपर देकर कॉलेज से वापस आ रही थी। आरोपी तौसीफ कार में सवार होकर अपने दोस्त के साथ कॉलेज के बाहर नितिका का इंतजार कर रहा था। निकिता के वहां पहुंचने पर उसने उसे जबरन कार में बिठाने की कोशिश की लेकिन निकिता ने इसका विरोध किया। इसके बाद तौसीफ ने नजदीक से उसे गोली मार दी। इस घटना का वीडियो वायरल हुआ है।

पुलिस ने दोनों आरोपियों को दबोचा
दिनदहाड़े हत्या का सनसनीखेज वारदात सामने आने के बाद हरियाणा पुलिस सक्रिय हो गई। आरोपियों को दबोचने के लिए पुलिस की 10 टीमें बनाई गईं और पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी को पकड़ लिया। मंगलवार को मामले का दूसरा आरोपी भी पुलिस की गिरफ्त में आ गया।

दो दिन की पुलिस रिमांड में आरोपी 
मुख्य आरोपी तौसीफ गुरुग्राम के सोहना इलाके के कबीर नगर का रहने वाला है। निकिता और तौसीफ के बीच पहले से जान पहचान थी। जबकि दूसरा आरोपी रेहान मेवात का रहने वाला है। पुलिस ने पूछताछ के लिए दोनों आरोपियों को दो दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है। फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह का कहना है कि तौसीफ ने साल 2018 में भी निकिता का अपहरण किया था। इस संबंध में बल्लभगढ़ पुलिस स्टेशन में एक प्राथमिकी दर्ज है। बाद में निकिता और तौसीफ के बीच समझौता हो जाने पर मामला रफा-दफा हो गया। पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

परिवार का ‘लव जिहाद’ का आरोप
पीड़िता के पिता मूलचंद तोमर ने तौसीफ पर ‘लव जिहाद’ का आरोप लगाया है।  मूलचंद ने कहा, ‘तौसीफ निकिता से शादी करना चाहता था और इसके लिए वह धर्म परिवर्तन करने के लिए उस पर लगातार दबाव बना रहा था लेकिन निकिता इसके लिए तैयार नहीं थी। एफआईआर में लव जिहाद का जिक्र नहीं है लेकिन पुलिस का कहना है कि वह आगे जांच के बाद इसे जोड़ेगी।’

पीड़िता के भाई नवीन का कहना है, ‘साल 2018 में तौसीफ शादी के लिए निकिता पर दबाव बना रहा था। यहां तक कि उसने निकिता का अपहरण कर लिया जिसके बाद हमने एफआईआर दर्ज कराई। पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था लेकिन सामाजिक लोकलाज को देखते हुए हमने अपनी शिकायत वापस ले ली। यह मामला लव जिहाद का है। जब वह अपने मंसूबे में सफल नहीं हो पाया तो उसने गोली मार दी। साल 2018 में तौसीफ के परिवार का एक व्यक्ति मंत्री था। उसने भी हम पर दबाव डाला था।’

आरोपी के हैं राजनीतिक रसूख
निकिता का संबंध जहां एक मध्यमवर्गीय परिवार से हैं। वहीं, फिजियोथेरेपी के तीसरे साल के छात्र तौसीफ एक संभ्रांत परिवार से ताल्लुक रखता है। तौसीफ के पिता नूंह में वकील है और उनके राजनीतिक रसूख हैं। तौसीफ के दादा कबीर अहमद मेवात से विधायक रह चुके हैं। उसके दादा के भाई खुर्शीद अहमद की गिनती मेवात के बड़े नेताओं में होती है।  तौसीफ का चचेरा भाई आफताब अहमद नूंह विधानसभा से कांग्रेस विधायक है।

Spread the love
More from Crime NewsMore posts in Crime News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: