Press "Enter" to skip to content

प्रदेश के 90 कॉलेजों को उच्च शिक्षा विभाग ने मान्यता समाप्ति का भेजा नोटिस

पोर्टल पर जानकारी नहीं देने वाले कॉलेजों की मान्यता खतरे में

प्रदेश में इस समय कॉलेजों में प्रवेश की प्रक्रिया चल रही है। ऐसे में उच्च शिक्षा विभाग ने उन 90 कॉलेजों का मान्यता समाप्ति का नोटिस भेज दिया है जिन्होंने विभाग के पोर्टल पर जानकारी अपडेट नहीं ही है।
वहीं सरकारी कालेजों के प्राचार्यों को वेतनवृद्धि रोकी जा सकती है, क्योंकि कॉलेज ने विभागीय पोर्टल पर जानकारी अपडेट नहीं की थी। इसे लेकर नोटिस जारी कर दिए गए हैं। अब कार्रवाई होना शेष है।
जानकारी के अनुसार, उच्च शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सभी सरकारी, निजी, अनुदान प्राप्त निजी कॉलेजों को विभाग के पोर्टल पर जानकारी देने को कहा हैं।
इसके पीछे विभाग का उद्देश्य यह है कि छात्रों को उक्त कॉलेज के बारे में सारी जानकारी मिल सके।
लेकिन विभाग के दिशा-निर्देश के बाद भी एक सैकड़ा से अधिक निजी और सरकारी कॉलेजों ने पोर्टल पर जानकारी नहीं दर्ज की है। इसलिए अब इनके खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी चल रही है।

1272 कॉलेज विभागीय पोर्टल पर कनेक्ट
गौरतलब है कि प्रदेश में 1272 कॉलेजों में स्नातक (यूजी) और स्नातकोत्तर (पीजी) में प्रवेश के लिए काउंसलिंग चरम पर पहुंच गई है। इसके साथ ही प्रवेश प्रक्रिया के तहत पंजीयन कराने वाले विद्यार्थियों की संख्या में भी तेजी से बढ़ोतरी हुई है।
यूजी-पीजी में अब तक 55 हजार विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया है। शैक्षणिक सत्र 2022-23 में प्रवेश विभाग ने प्रदेश के करीब 1359 निजी, सरकारी और अनुदान प्राप्त कॉलेजों को पोर्टल पर अपडेट होना थे, जिसमें 1272 विभागीय पोर्टल पर कनेक्ट हो गये हैं।

दोषियों को भेजा गया नोटिस
उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशों के बावजूद करीब 90 कॉलेज अभी तक पोर्टल पर नहीं जुड़ सके हैं। इसलिये विभाग उनकी मान्यता समाप्त करने संबंधी कार्रवाई करेगा।
इस संबंध में उन्हें नोटिस भेज दिया गया था, लेकिन उन्होंने विभाग को जवाब देना उचित तक नहीं समझा। इसके अलावा 86 सरकारी कॉलेजों ने पोर्टल से कनेक्ट होने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है।
नोटिस के बाद उन्होंने पोर्टल से जुडऩे की प्रक्रिया को पूर्ण कर लिया है, लेकिन विभागीय आदेश की अवहेलना करने पर प्राचार्यों को नोटिस देकर जवाब तलब किया गया है।
उनका जवाब संतोषजनक नहीं हुआ, तो उनकी दो इंक्रीमेंट रुकना तय है। नोटिस देने के बाद 276 कॉलेजों को प्रवेश देने के लिए ई-प्रवेश पोर्टल पर जोड़ा गया है।

नौ कोर्स में 32,600 विद्यार्थियों ने कराया पंजीयन

एनसीटीई के नौ कोर्स में 32 हजार 600 विद्यार्थियों ने  पंजीयन कराए हैं। इनमें से 32 हजार 400 ने चॉइस फिलिंग कर 26.452 विद्यार्थियों ने अपने दस्तावेज भी सत्यापित कराए हैं।
इसमें बीएड में 30,206 एमएड में 676, बीपीएड में 267, एमपीएड में 334, बीए बीएड में 526, बीएससी बीएड में 407, बीएड एमएड में 81. बीएलएड में 24, बीएड (अंशकालीन) में 76 पंजीयन हुए हैं।
विभाग तीस मई के मेरिट के साथ अलॉटमेंट जारी करेगा विद्यार्थी तीन जून तक फीस जमा कर प्रवेश लेंगे। विभाग की यूजी और पीजी की काउंसलिंग में 276 कॉलेजों को और शामिल कर लिया गया है।
अब कॉलेजों की यूजी की 1,16,980 और पीजी की 21, 475 सीटों को मिलाकर अब यूजी में कुल 6.25,159 और पीजी की 1.85, 001 सीटें हो गई है। विभाग यूजी-पीजी की 8,10,160 सीटें पर प्रवेश कराएगा।

Spread the love
More from Education NewsMore posts in Education News »
%d bloggers like this: