Press "Enter" to skip to content

इंदौर अग्निकांड : 7 हत्या का आरोपी, पिता ने किया बेदखल, लड़की की बहन में पीटा, हेकिंग के मास्टरमाइंड संजय दीक्षित की पुलिस कर रही तफतीस 

आरोपी के पिता बोले- मिलनी चाहिए सख्त सजा, सालों पहले कर चुका हूं बेदखल

इंदौर क्राइम. मध्य प्रदेश के इंदौर में शनिवार की रात दिल दहला देने वाली घटना सामने आई। इस घटना में एकतरफा प्यार में युवक ने एक युवती की स्कूटी में आग लगा दी थी। यह आग बिल्डिंग में फैल गई और इससे सात लोगों की जलकर मौत हो गई।

घटना का आरोपी झांसी के खातीबाबा इलाके की बृह्मपुरी कॉलोनी निवासी संजय दीक्षित (30) निकला। संजय के पिता रेलवे के एसी शेड में इंजीनियर देवेंद्र कुमार दीक्षित ने बताया कि उनका संजय से सालों से कोई वास्ता नहीं था। संजय गलत संगत में पड़ गया था।

उसने बीटेक की पढ़ाई भी अधूरी छोड़ दी थी। इससे आजिज आकर तीन साल पहले उन्होंने उसे परिवार से बेदखल कर दिया था। इसका अखबार में विज्ञापन भी प्रकाशित कराया था।

उन्होंने बताया कि संजय कभी कभार ही झांसी आता था और बगैर बताए चला जाता था। मां रेखा से ही उसकी बात होती थी। उन्हें ये तक नहीं पता था कि संजय इंदौर में रह रहा है।

वे समझते थे कि संजय दिल्ली में है। पिता ने कहा कि संजय ने बहुत गलत काम किया है। इसकी उसे सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए।

लड़की की बहन ने जड़े थप्पड़

अग्निकांड के आरोपी को अस्पताल में इलाज कराकर रविवार को थाने लाया गया। थाने में उससे पूछताछ की जाना है। थप्पड़ मारने वाली महिला उससे पूछती रही कि तुझे क्या मिल गया।

आरोपी संजय उर्फ शुभम दीक्षित को पूछताछ के लिए रविवार दोपहर 3 बजे विजय नगर थाने लाया गया। यहां उसके साथ विजयनगर टीआई तहजीब काजी सहित अन्य पुलिसकर्मी भी थी। थप्पड़ मारने वाली महिला आरोपी की कथित प्रेमिका की बहन बताई जा रही है।

  हैकिंग का मास्टर  

आरोपी संजय दीक्षित हैकिंग का मास्टर निकला। पुलिस की पूछताछ में उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए। उसने बताया कि वह एटीएम कार्ड और नेट बैंकिंग जैसे काम करता था। शनिवार देर रात पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तारी के समय उसके हाथ-पैर टूट चुके थे। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रविवार को उसे छुट्‌टी दे दी गई। इसके बाद पूछताछ के लिए विजयनगर थाने लाया गया।

वहां उसने बताया कि उसने मोबाइल बंद कर लिया था। वह केवल ऑनलाइन एप के जरिए ही दोस्तों के संपर्क में था। और अपनी गर्लफ्रेंड को परेशान कर रहा था। लेकिन पुलिस ने 18 घंटे में लोकेशन ट्रैस कर खोज निकाला।

साक्षी उर्फ सना उर्फ रिंकी बताई पूरी कहानी

पुलिस को सना ने बताया कि लगभग 8 माह पहले संजय इलाके में रहने आया था। वह किसी भी लड़की के पीछे पड़ जाता था। इस कारण से कुछ समय बाद सना ने संजय से दोस्ती खत्म कर ली।

संजय की एक गर्लफ्रेंड को सना ने संजय की करतूत बताई। जिस कारण से संजय सना से जुड़ा हुआ था। उसने कई बार सना को मारने की धमकी भी दी। इलाके में कई बार आकर सना के साथ झगड़ा किया।

इसकी जानकारी बिल्डिंग सहित इलाके के रहवासियों को भी थी। संजय आईटी का जानकार था इस कारण से उसने एक फर्जी आईडी बनाई और वह सना से दोस्ती रखने वाले उस युवक को सना के बारे में कई गलत मैसेज भी लिखता था।

संजय ने सना को गांधीनगर इलाके में रोक कर मारने की धमकी दी। विवाद भी किया, लेकिन सना ने इसकी जानकारी थाने पर नहीं दी।

Spread the love
More from Crime NewsMore posts in Crime News »
%d bloggers like this: