Press "Enter" to skip to content

Indore News – 7 दिवसीय प्रदेश की पहली गौकथा का भव्य शुभारंभ

संसार में गौमाता से पवित्र कुछ भी नहीं – साध्वी कपिला गोपाल सरस्वती

Religious News. हर दुखी मनुष्य के सुख की तलाश गौ माता के चरणों में ही पूरी होगी। जो जीव भयमुक्त होना चाहता है उसे गौ कथा का श्रवण अवश्य करना चाहिए। हर दुखी मनुष्य के सुख की तलाश गौ माता के चरणों में ही पूरी होगी।
यह विचार साध्वी कपिला गोपाल सरस्वती ने श्री अन्नपूर्णा क्षेत्र माहेश्वरी समाज द्वारा आयोजित सप्त दिवसीय गौकृपा कथा के पहले दिन व्यास पीठ से संबोधित करते हुए व्यक्त किए। आपने कहा कि गौ माता से प्राप्त गौ मूत्र और गोबर विश्व की सबसे पवित्र और औषधि गुणों से भरपूर है। गणेश जी की पूजा भी इसलिए सर्वप्रथम होती है क्योंकि जब उन्होंने अपने माता – पिता की तीन परिक्रमा पूर्ण की तो उसके साथ गौमाता के रूप में नंदी की परिक्रमा भी साथ ही कर ली थी। आज प्रातः साध्वी जी आर के डागा ऐकेडमी में अध्ययनरत बच्चों से मिलने पहुंची। वहां विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए आपने कहा कि देसी गौ माता का दूध विद्यार्थियों के लिए सर्वोत्तम होता है। भैंस जिस तरह से आलस्य से भरी हुई होती है उसी प्रकार उसका दूध भी विद्यार्थियों में आलस्य लाता है। आपने कहा कि ब्रह्म मुहूर्त में उठकर विद्यार्थियों को अध्ययन करना चाहिए।
अन्नपूर्णा क्षेत्र माहेश्वरी समाज के मंत्री मनीष जाखेटिया ने बताया कि आज प्रथम दिन व्यासपीठ का पूजन राधेश्याम लड्ढा, अशोक डागा, रामेश्वरलाल भूतड़ा, प्रदीप जाखेटिया, पूनम मालपानी, आशा साबू, सीमा माहेश्वरी ने किया। संगीतमयी यह अनूठी कथा 4 जनवरी को शाम 6 बजे से प्रारम्भ होगी।
Spread the love
%d bloggers like this: