Press "Enter" to skip to content

ऑइल कंपनी का ई मेल हैक कर डेटा चुराया 13.44 लाख का पेमेंट अपने खातों में डलवाया, चार आरोपी गिरफ्तार

जिस महिला के खाते में पेमेंट डाली वह भी गिरफ्तार
 
इंदौर की ऑइल कंपनी का ई-मेल अकाउंट हैक कर ग्राहकों का पेमेंट अपने खातों में ट्रांसफर कराने वाली नाइजीरियन गैंग से जुड़े चार लोगों को साइबर सेल ने गिरफ्तार किया है। इनमें एक महिला है, जिसके खाते में रुपए ट्रांसफर कराने के बाद नाइजीरियन गैंग कुछ कमीशन देकर उन्हें निकाल लेती थी। साइबर सेल ने ऑइल कंपनी से माल लेने वाली चेन्नई की एक फर्म का पेमेंट 13 लाख 44 हजार 320 रु. फ्रीज कराया है। महिला के खाते में पंजाब, दिल्ली व अन्य कई जगह की कंपनियों के लाखों के पेमेंट भी आना पता चला है।
साइबर सेल एसपी जितेंद्र सिंह के मुताबिक, 27 जुलाई को न्यू पलासिया स्थित विस्कस ऑइल कंपनी के मैनेजर राजकुमार पटेल ने शिकायत की थी कि उनकी कंपनी का ई-मेल अकाउंट हैक कर ग्राहकों की जानकारी और डेटा चुरा लिए। कंपनी के अकाउंट में चेन्नई के एक फर्म से 13 लाख 44 हजार 320 रुपए का पेमेंट आना था। जब चेन्नई की कंपनी से जानकारी ली तो उनका कहना था कि हमने तो पेमेंट कर दिया।
आपके लोगों ने फोनकर छह अकाउंट में पैसे डलवाए। पुलिस ने जब जांच की तो जिन खातों में रुपए ट्रांसफर हुए थे। वे गोरखपुर (यूपी) की सैयदा बेगम के निकले। उससे जब पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। इसके बाद परवेज अहमद, ग्यासुद्दीन उर्फ शानू खान और आशीष जायसवाल को भी पकड़ा गया। सभी गोरखपुर के रहने वाले हैं।
कमीशन देकर आरोपी गरीबों के खातों में ट्रांसफर कराते थे रुपए
एसपी के मुताबिक, पकड़े गए आरोपी इस गैंग की निचली कड़ी हैं। नाइजीरियन गैंग इस धोखाधड़ी में सैयदा बेगम जैसे लोगों को कुछ कमीशन देकर उनके खातों का इस्तेमाल करती है और फिर धोखाधड़ी के रुपए ट्रांसफर करवा कर निकाल लेती है। आरोपी परवेज और ग्यासुद्दीन फर्जी दस्तावेज व गारंटर बनकर बैंकों में खाते खोलने में मदद करते हैं। गिरोह इन्हें एक लाख की राशि पर 10 हजार रुपए कमीशन देता है। वहीं तीसरी कड़ी आशीष जायसवाल से जुड़ी है। ये दिल्ली में बैठे नाइजीरियन गिरोह के सदस्यों के मुख्य एजेंटों से जुड़ा है।
Spread the love
More from Crime NewsMore posts in Crime News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: