Press "Enter" to skip to content

प्रदेश में भारी बारिश से हाहाकार : तालाब में तब्दील हुई सड़कें, सैकड़ों बस्तियां जलमग्न, कई जिलों से संपर्क टूटा

मध्य प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश के चलते हाहाकार मचा हुआ है। रविवार से जारी बारिश का सिलसिला रूक-रूककर लगातार जारी है। बीते दो दिनों से हो रही बारिश के चलते कई शहर टापू में तब्दील हो गए हैं, जबकि सड़कें तालाब बन गई हैं। नर्मदा, चंबल, बेतवा समेत कई छोटी नदियां और नाले उफान पर हैं। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में भारी बारिश की चेतावनी देते हुए प्रदेश के 8 जिलों में भारी बारिश और 23 जिलों में तेज हवाओं के साथ मध्यम वर्षा की चेतावनी जारी की है।

बीते 24 घंटों की बात करें तो प्रदेश में भोपाल एवं नर्मदापुरम संभागों के जिलों में अधिकांश स्थानों पर, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, सागर, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में अनेक स्थानों पर तथा शहडोल एवं रीवा संभागों के जिलों में कहीं-कहीं वर्षा दर्ज की गई। मौसम विभाग के अनुसार खातेगांव में 27, घोड़ाडोगरी में 16, बिछुआ में 13, नटेरन में 12, नसरुल्लागंज में 11, अरेरा हिल्स, रायसेन में 10 नवीबाग, भीमपुर वरला, चाँद में 9, बैरागढ़, रेहली, शमशाबाद में 7 सेमी बारिश पिछले 24 घंटे में दर्ज की गई है ।

इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग ने राजधानी भोपाल समेत, नर्मदापुरम, इंदौर, उज्जैन एवं जबलपुर संभाग के जिलों और दमोह, सागर, उमरिया और गुना जिलों में भारी से अति भारी बारिश की चेतावनी दी है। बारिश के दौरान 45 किमी की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। कई स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी भी दी गई है।

सेगांव की बोराड़ नदी में आई बाढ़, भोपाल में 100 से ज्यादा बस्तियां जलमग्न

राजधानी भोपाल में बीते 24 घंटे में 4 इंच बारिश दर्ज की गई, जबकि विदिशा में साढ़े तीन घंटे की बारिश में 8 इंच और रायसेन में 4 इंच बारिश दर्ज की गई। राजधानी भोपाल के कई इलाकों में बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। शाहपुरा, लालघाटी, बैरागढ़, बागसेवनियां, बीडीए कॉलोनी समेत कई इलाकों में जलप्लावन देखने को मिला। राजधानी भोपाल की 100 से ज्यादा बस्तियां और 20 से ज्यादा सड़कें बारिश के पानी से लबालब भरी हैं।

विदिशा में ऑटो बहा, छिंदवाड़ा में बोलेरो

प्रदेशभर में बारिश से चिंताजनक हालात बने हुए हैं। कई जगह लोगों और वाहनों के बहने की खबरें सामने आई हैं। विदिशा जिले में बारिश के पानी का बहाव इतना तेज था कि यहां एक ऑटो पानी में बह गया। वहीं, छिंदवाड़ा में एक बोलेरो बरसाती रपटे पर बहते-बहते बची, बोलेरो में सवार लोगों को किसी तरह ग्रामीणों ने सुरक्षित बाहर निकाला। छिंदवाड़ा के बिछुआ में कई इलाकों में पानी भर गया। स्कूलों में पानी भरने की वजह से स्कूली बच्चों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। भारी बारिश के चलते छिंदवाड़ा-नागपुर हाइवे बंद हो गया है। वहीं, खरगोन जिले के सेगांव में बोराड़ नदी में बाढ़ आने से खंडवा-बड़ौदा स्टेट हाइवे बंद हो गया है। बारिश के चलते आकाशीय बिजली का कहर भी देखने को मिल रहा है। बीते 37 दिनों में प्रदेश में 90 से ज्यादा लोग बिजली की चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं।

इन जिलों में रेड और ऑरेंज अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने सीहोर और सागर जिले में अति बारी बारिश की चेतावनी देते हुए रेड अलर्ट जारी किया है। जबकि नरसिंहपुर, बैतूल, रायसेन, हरदा, छिंदवाड़ा और सिवनी में मध्यम बारिश के साथ आकाशीय बिजली चमकने और तेज हवाएं चलने की चेतावनी देते हुए रेड अलर्ट जारी किया है। भोपाल, मंदसौर, नीमच, गुना, खंडवा, राजगढ़, इंदौर, बुरहानपुर, अलीराजपुर, देवास, बड़वानी, झाबुआ, विदिशा, रतलाम, दमोह, जबलपुर, नर्मदापुरम, खरगोन, धार, शाजापुर, आगर, मंडला और बालाघाट जिले में मध्यम वर्षा और वज्रपात की चेतावनी देते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। जबकि उज्जैन, अशोकनगर, निवाड़ी, टीकमगढ़, मुरैना, ग्वालियर, श्योपुर कलां, भिंड, छतरपुर और पन्ना में बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है।

Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: