Press "Enter" to skip to content

पानी से चलने वाली मोटरसाइकिलें बाजार में आ रही हैं | Bike | Petrol |Diesel | Sports Bike|

Last updated on September 2, 2020

पानी से चलने वाली मोटरसाइकिलें बाजार में आ रही हैं दुनिया का तेल और गैस का भंडार घट रहा है। पेट्रोल और डीजल की कीमत दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। वैज्ञानिक इससे बाहर निकलने के तरीके पर काम कर रहे हैं। वैकल्पिक ईंधन की तलाश में। ऐसे में जाने-माने जापानी ब्रांड यामाहा बिना ईंधन के मोटरसाइकिल बना रहा है। इस मोटरसाइकिल का ईंधन पेट्रोल या डीजल नहीं है, बल्कि पानी है। यह इको-फ्रेंडली मोटरसाइकिल भारतीय बाजार में व्यावसायिक रूप से जारी की जाएगी। यामाहा ने हाल ही में उस मोटरसाइकिल का एक मॉडल डिजाइन चित्र जारी किया।

इस टू व्हीलर का नाम XT500 HTZIRO है। मैक्सिम लेफेब्रे इस नई मोटरसाइकिल को यामाहा के साथ बाजार में लाने जा रही है। इस परियोजना पर 2016 से काम चल रहा है। सत्तर के दशक में यह बाइक X500 की तरह दिखती है। 1985 से 1981 तक, इस मोटरसाइकिल को एक लाइववेट बाइक के रूप में जाना जाता था। 499 सीसी फोर स्ट्रोक सिंगल सिलेंडर इंजन मोटरसाइकिल की स्पीड 160 किलोमीटर प्रति घंटा थी। XT500 HTG जीरो एडिशन बाइक में वाटर पंप होगा। यह पंप एक परिपत्र गति में पानी को घुमाएगा और इंजन को प्रणोदन देगा। पानी से चलने वाली मोटरबाइक्स के जरिए पर्यावरण प्रदूषण का कोई खतरा नहीं होगा। मोटरसाइकिल के मालिक को ईंधन के बारे में कोई चिंता नहीं होगी। बाइक की रखरखाव लागत भी ईंधन से चलने वाली या इलेक्ट्रिक मोटरसाइकिल की तुलना में बहुत कम होगी। ब्राजील में एक व्यक्ति ने पानी से चलने वाली मोटरसाइकिल का निर्माण किया है। इस आदमी द्वारा बनाए गए मोटरबाइक का ईंधन पानी जिसका नाम रिकार्डो अजावदा है। उन्होंने अपनी बाइक को साधारण पेयजल में सवारी करते हुए दिखाया है। पानी से चलने वाली इस मोटर साइकिल के इंजन में दो भाग होते हैं एक पानी की टंकी और एक बैटरी। बैटरी की बिजली पानी में हाइड्रोजन के अणुओं को घोल देती है। तब वह हाइड्रोजन एक पाइप के माध्यम से इंजन में प्रवाहित होगा। यह हाइड्रोजन है जो मोटरसाइकिल को आगे बढ़ाने के लिए ऊर्जा पैदा करता है। रिकार्डो अजेवदा द्वारा बनाई गई एक मोटरसाइकिल एक लीटर पानी में 30 मील से अधिक की यात्रा करती है। रिकार्डो अजेवदा द्वारा बनाई गई यह मोटरसाइकिल पर्यावरण के अनुकूल है। क्योंकि इस बाइक से कोई धुंआ नहीं निकलेगा। परिणाम पर्यावरण के अनुकूल और सुरक्षित है।

Spread the love

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: