Press "Enter" to skip to content

इयरफ़ोन के अधिक इस्तेमाल के कारण बहरेपन का शिकार हो रहे लोग

Health Tips. आसपास नजर घुमाएंगे, तो कान में ईयरफोन लगाए हुए कई सारे लोग दिख जाएंगे. आजकल लोग वीडियो देखने और ऑडियो सुनने के अलावा कॉल पर बात करने के लिए भी ईयरफोन का इस्तेमाल करते हैं.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये छोटा-सा ईयरफोन आपको बहरा बना सकता है और ऐसा एक देश में हो भी रहा है. जहां एक चौथाई आबादी कानों में ईयरफोन लगाने के कारण बहरी हो रही है. आइए ईयरफोन लगाने के नुकसान व बचने के टिप्स के बारे में जानते हैं.

फ्रांस में 25 प्रतिशत लोगों की सुनने की क्षमता कम
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड मेडिकल इंस्टीट्यूट द्वारा की गई रिसर्च में दावा किया गया है कि फ्रांस में चार में से एक व्यक्ति को सुनने में परेशानी हो रही है. बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ है, जब फ्रांस में इतने बड़े लेवल पर रिसर्च की गई है. जिसमें 18 से 75 वर्ष की उम्र के लगभग 460 लोगों को शामिल किया गया. रिसर्चर्स का दावा है कि कम सुनाई देने की परेशानी की वजह, सोशल आइसोलेशन, डिप्रेशन और तेज आवाज में म्यूजिक सुनना है.

ईयरफोन के इस्तेमाल से होते हैं ये नुकसान

1. कान में दर्द और मैल जमना
तेज आवाज में म्यूजिक सुनने में मजा तो बहुता आता है. लेकिन ये मजा आपके लिए सजा भी बन सकता है. तेज आवाज में गाना सुनने और ईयरफोन को अन्य लोगों के साथ शेयर करने से बैक्टीरिया एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के कान में पहुंच जाते हैं. जिसकी वजह से कान में इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है. ज्यादा देर तक ईयरफोन का यूज करने से कान में मैल जमा हो जाता है. जिसकी वजह से कई बार कान में संक्रमण, सुनने की समस्या और कान में आवाज आने की शिकायत हो जाती है.

2. दिल की बीमारी
तेज आवाज में म्यूजिक सुनने से कान पर ही नहीं, बल्कि दिल पर भी बुरा असर पड़ता है. जब तेज आवाज में म्यूजिक सुना जाता है, तो दिल की धड़कन बढ़ जाती है. जो कि लंबे समय के बाद आपके दिल के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है.

3. कम सुनाई देना या बहरापन
जरुरत से ज्यादा ईयरफोन का इस्तेमाल करने से सुनने की क्षमता पर असर पड़ता है. रिसर्च के अनुसार, घंटों तक ईयरफोन का प्रयोग करने से चक्कर आना, अनिद्रा की समस्या, सिर और कान में दर्द जैसे लक्षण दिखाई देने लगते हैं. बता दें कि हमारे कान की सुनने की क्षमता 90 डेसीबल होती है. जो कि तेज आवाज में म्यूजिक सुनने के कारण 40-50 डेसीबल कम हो जाती है. इसी वजह से व्यक्ति में बहरेपन की समस्या हो जाती है.

बहरेपन के शिकार होने के लक्षण

-शांत स्थान पर बैठे होने के बावजूद कान में आवाज महसूस होना, जो कुछ मिनटों बाद गायब हो जाए.
-टीवी या म्यूजिक को सुनने के लिए उसकी आवाज पूरी बढ़ाने की आवश्यकता पड़ रही हो.
-मात्र 3 फीट की दूरी पर भी लोगों की बात को सुनने में परेशानी आ रही हो.

बचने के लिए क्या करें

-ज्यादा समय तक हेडफोन का इस्तेमाल न करें. दिन में सिर्फ 60 मिनट तक ही ईयरफोन इस्तेमाल करें.
-ईयरफोन इस्तेमाल करने के दौरान साउंड हमेशा नॉर्मल रखें
-हमेशा अच्छी क्वालिटी के ईयरफोन और हेडफोन यूज करें.
-रिसर्चर्स का दावा है कि ईयरबड्स वाले ईयरफोन का इस्तेमाल कानों को सुरक्षित रख सकता है.

डिस्क्लेमर : इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी सद्भावना पाती की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.

Spread the love
More from Health NewsMore posts in Health News »
%d bloggers like this: