Press "Enter" to skip to content

Raghwendra Singh Tomar Raid | केके मिश्रा का आरोप- मंत्री अरविंद सिंह भदोरिया का डायरेक्ट कनेक्शन |

Last updated on September 3, 2020

प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त करने की मुहिम तेज हो गई है। इसी तर्ज पर मध्य प्रदेश कैडर के मौजूदा आईपीएस के रिश्तेदारों के घर इनकम टैक्स छापेमारी की बड़ी खबर सामने आ रही है। इनकम टैक्स विभाग ने प्रदेश के 2 आईपीएस से जुड़े रिश्तेदार राघवेंद्र सिंह तोमर सहित 10 अन्य स्थानों पर छापेमारी की है। यो पानी भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर में की गई है। वहीं बिल्डर्स के बारे में विस्तृत जानकारी निकाली जा रही है। दरअसल आईपीएस से जुड़े रिश्तेदार राघवेंद्र सिंह तोमर फेथ बिल्डर्स समेत कई फर्म के मालिक हैं।इसके साथ ही वह प्रदेश में ही पदस्थ एक आईपीएस के साले भी हैं।

आईटी विभाग को प्रारंभिक जांच में कोरोना काल में सरकार के करीब एक मंत्री के कुछ कंपनियों में बिल्डर की पत्नी एवं परिवार के नाम से भागीदारी में शेयर होने की सूचना प्राप्त हुई है। इसके बाद आईटी विभाग ने बिल्डर और डेवलपर सहित भोपाल के कई आफिस, कोलार इलाके की चुना भट्टी, फेथ बिल्डर और राघवेंद्र तोमर के निवास एवं पार्टनर सहित डेढ़ दर्जन से ज्यादा जगहों पर छापेमारी की है। मिली जानकारी के मुताबिक आईटी विभाग शादी हॉल किन्नौरी , चिंतामन चौराहा और कोलार में डेढ़ सौ से अधिक अधिकारियों के साथ छापेमारी की है। वहीं आईटी विभाग ने यह भी साफ किया कि बिल्डर किसी वरिष्ठ अधिकारी के नजदीकी रिश्तेदार हैं। इसके साथ ही कई राजनेताओं से रिश्ते पर भी बड़ा खुलासा हो सकता है | संदिग्ध ने काली कमाई को सफेद करने के लिए अलग अलग व्यावसायों में इन्वेस्ट किया है. लंबे समय से विभाग को आय से अधिक संपत्ति, काली कमाई और टैक्स चोरी की शिकायतें मिल रहीं थीं, जिसके बाद रणनीति बनाकर कार्रवाई की गई है. बताया जा रहा है कि में ये अब तक की सबसे बड़ी इनकम टैक्स की छापेमारी है |वहीँ आईटी विभाग की कार्रवाई जारी है | शाम तक पता चल पाएगा कि अब तक की कार्रवाई में टीम को क्या क्या हाथ लगा है | टीम लगातार दस्तावेज खंगालने में जुटी है |

Spread the love
More from Crime NewsMore posts in Crime News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: