Press "Enter" to skip to content

रेत का भंडारण करने की अनुमति देने की मांग की

मजदूरों का संपूर्ण रोजगार प्रभावित हो रहा है।
धारा-379 के तहत चोरी का प्रकरण बनाकर प्रताड़ित किया जा रहा ।
तहसीलदार साहब हम असंगठित क्षेत्र के मजदुर संगठन का जनजीवन प्रभावित हो गया है|कोरोना सक्रमण महामारी के चलते विगत 8 महीनो से पहले ही रोजगार नही मिल रहा है और ऊपर से हम मजदूरो के ऊपर धरा 379 के तहत चोरी का प्रकरण बनाकर जेल भेजने कि बात कि जा रही है|जिसको लेकर गुरुवार दोपहर 11 बजे महामहिम राज्यपाल के नाम का ज्ञापन असंगठित क्षेत्र मजदुर संगठन बडवाह के हनुमंतसिंह तोमर देवेश ठाकुर दिनेश सोनी के द्वारा सौपते हुए कही|
धारा-379 के तहत चोरी का प्रकरण बनाकर प्रताड़ित किया जा रहा 
रेत कारोबारी कमलसिंह तोमर राजेश राठौड़ मोहन प्रजापत ने कहाकि प्रधानमंत्री आवास निर्माण व अन्य सभी प्रकार के निर्माण कार्यो में लगे हजारो कि संख्या में मजदुर परिवारों के रोजगार का संकट उत्पन्न हो गया है|किन्तु रेती से जुड़े कुछ लोगो के द्वारा किसी अन्य जिले से रायल्टी कि रेत लायी जाती है तो उन लोगो पर धरा 379 के तहत चोरी का प्रकरण बनाकर प्रताड़ित किया जा रहा है|शासनसे निवेदन है कि रेती के कारोबार में धारा को हटाने कि मांग कि|
अत्यधिक राशी नही वसूली कि जावे 
असंगठित क्षेत्र के मजदुर संगठन सुरेन्द्रसिंह भवानीसिंह अंकित रावत अरमान खान विकास अनिल ने कहाकि खदानों के साथ इस क्षेत्र से जुड़े अन्य लोगो का रोजी रोजगार को ध्यान में रखते हुए खदान संचालको द्वारा नियमित खदानों का संचालन एवं रायल्टी का निर्धारण भी किया जाना आवश्यक है जिससे खदान संचालको द्वारा क्षेत्र से जुड़े लोगो से अत्यधिक राशी नही वसूली कि जावे|
रेत का भंडारण करने की अनुमति देने की मांग की
 हनुमंतसिंह तोमर देवेश ठाकुर दिनेश सोनी रोहित केवट ने खनिज विभाग व रेती ठेकदार से मांग करते हुए कहाकि रेत खदानों का आवंटन जिले के अनुसार किया गया हैं, जिसमे खदान संचालकों के द्वारा अभी खदानों का संचालन किया जा रहा है क्षेत्र में भी पुन रेती का कारोबार शुरू किया जावे|साथ ही जिलाधीश व खनिज अधिकारी से आग्रह है जब भी कोई भी रेती कारोबारियों द्वारा रेती का भंडार किया जाता है तो उनका माल जप्त किया जाता है जब कि हमारे द्वारा शासन को रायल्टी देने के पश्चात कि भवन निर्माण करतो को देने के बाद शेष रेती बचने के कारण रेती का भंडारण होता है उसके बाद भी अधिकारियो के द्वारा रेती को जप्त किया जाता है|शासन से मांग करते है कि उक्त रेती का भंडारण करने कि अनुमति दी जावे।इस मौके पर कोमल शंकर सीताराम अनिल मंगत वीरेंद्र सहित अन्य मजदूर सगठित के सदस्य मौजूद थे|
Spread the love
More from National NewsMore posts in National News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: