Press "Enter" to skip to content

 जय श्रीराम के घोष के साथ अयोध्या काशी के लिये रवाना हुई विशेष ट्रेन, 400 वृद्धों को ‘सरकारी खर्च’ पर ‘तीर्थ दर्शन’ पर भेजा 

 पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने यात्रियों को दी शुभकामनाएं 
इन्दौर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर लंबे अंतराल के बाद आज से पुन: मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा प्रारंभ हुई। इस योजना के अंतर्गत पहली विशेष ट्रेन आज शासकीय खर्च पर अयोध्या और काशी के लिय रवाना की गई। आज इस ट्रेन से लगभग 400 वृद्धों को अयोध्या और काशी के दर्शन कराये जायेंगे।
यह तीर्थ यात्री ढोल-ताशे तथा जयश्री राम के घोष के साथ उत्साह और उत्सव के वातावरण में रवाना हुए। सभी वृद्ध तीर्थ यात्रियों में अपार उत्साह देखा गया।
इस ट्रेन को पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, विधायक द्वय रमेश मेंदोला तथा आकाश विजयवर्गीय ने झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर यात्रा के नोडल अधिकारी विजय शर्मा, तहसीलदार एच.एस. विश्वकर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
मंत्री सुश्री उषा ठाकुर सहित मेंदोला और विजयवर्गीय ने तीर्थ यात्रियों से मिलकर उन्हें शुभकामनाएं दी। यात्रियों का पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया गया। यात्रियों ने इस अवसर पर अपनी खुशियां गीत और भजन गाकर व्यक्त की।

हमारे लिये होगा यादगार क्षण – जब अयोध्या और काशी के नव निर्माण के साक्षी बनेंगे 

यात्रियों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि यह योजना हम वृद्धों के लिये बहुत महत्वपूर्ण है। जब हम संगठित होकर किसी एक तीर्थ यात्रा पर जाते हैं, तो उसका वातावरण कुछ अलग ही होता है और अद्भूत वातावरण बनता है।
ऐसे ही विचार व्यक्त करते हुए बड़ी भमौरी निवासी गोवर्धन पंवार, श्यामलाल, अंजनी नगर निवासी अशोक, रामनगर निवासी साहेब राव तथा आशु गायकवाड़ ने अपनी खुशियां जाहिर की। इनका कहना था कि हमारे लिये यह योजना किसी वरदान से कम नहीं हैं। कभी हमने सोचा था कि हम इन तीर्थों की यात्रा करेंगे लेकिन कई समस्याओं के कारण यात्रा नहीं कर पाए।
आज हमारे इस सपने को मुख्यमंत्री द्वारा साकार किया जा रहा है। वह भी ऐसे व्यक्त जब अयोध्या और काशी का नव निर्माण हो रहा है। यह हमारे जीवन के लिये यादगार क्षण होगा, जब हम इस नव निर्माण के साक्षी बनेंगे।

 यात्रा के लिए 2200 आवेदन आए थे, लॉटरी से 400 वृद्धों का हुआ चयन

इन्दौर जिले में अयोध्या और काशी की इस यात्रा के लिये अद्भूत उत्साह था। जिले में लगभग 2200 आवेदन इस योजना के लिये प्राप्त हुए इसमे से लॉटरी के माध्यम से 400 वृद्धों का चयन इस यात्रा के लिये किया गया। यह विशेष ट्रेन अयोध्या और काशी का भ्रमण करा कर तीर्थ यात्रियों को 3 मई को वापस लाएगी।
तीर्थ यात्रा का पूरा खर्च राज्य शासन द्वारा वहन किया जा रहा है। यात्रियों की देख-रेख के लिये 8 शासकीय सेवकों को साथ भेजा गया है।
वृद्धों के स्वास्थ्य की देखभाल के लिये चिकित्सक और पेरामेडिकल स्टॉफ भी ट्रेन में रहेगा। साथ ही यात्रियों के ठहरने, भोजन, चाय-नाश्ते और पेयजल की व्यवस्था भी की जाएगी। अयोध्या और काशी में भ्रमण का खर्च भी शासकीय स्तर पर होगा।

Spread the love
%d bloggers like this: