Press "Enter" to skip to content

छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में अंधेरे में रात काटने मजबूर छात्र और स्टाफ, 50 घंटे से नहीं है लाइट

छिंदवाड़ा। छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज परिसर में बीते दो दिन से भी ज्यादा समय से लाइट नहीं है। बिजली गुल होने के कारण हॉस्टल में रहने वाले छात्र और स्टाफ के परिवार को अंधेरे में दिन-रात गुजारना पड़ रहा है। कुछ छात्रों की सोमवार सुबह परीक्षा थी लेकिन लाइट न होने के चलते वह पढ़ भी नहीं सके। मेडिकल अधीक्षक डॉ. हेमंत अहिरवार ने बताया कि मेडिकल कॉलेज परिसर में दो ट्रांसफार्मर हैं हमेशा प्रॉब्लम करते हैं जिसकी कई बार शिकायत भी की गई लेकिन बिजली विभाग ने उस पर ध्यान नहीं दिया और आखिरकार दोनों पूरी तरीके से खराब हो गए, जिसकी वजह से करीब 50 घंटे से बिजली गुल है उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेज परिसर के आसपास घनी झाडिय़ां और नाले हैं इसकी वजह से जहरीले जीव जंतुओं का खतरा बना रहता है। बिजली नहीं होने से सबसे ज्यादा परेशानी छोटे बच्चों को है।
वहीं, एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे छात्रों का कहना है कि करीब 50 घंटे से बिजली गुल होने की वजह से वे सोमवार को होने वाली परीक्षा की तैयारी ठीक से नहीं कर सके। लाइट न होने के खामियाजा अब उन्हें भुगतना पड़ेगा। छात्रों का कहना है कि उन्होंने कई बार बिजली विभाग को शिकायत की थी, लेकिन विभाग ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया। मेडिकल कॉलेज के शुरू हुए 2 साल हो गए हैं। लेकिन बावजूद उसके यहां के हालात में कोई सुधार नहीं है।
Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: