Press "Enter" to skip to content

टमाटर एक बार फिर 80 रुपये किलो बिक रहा है वहीं आलू 40 से 45 रुपये किलो तक पहुंच चुका है |

 

सब्जियों के दाम में कुछ दिनों की हल्की नरमी के बाद एक बार फिर इनके दाम आसमान छू रहे हैं. आलू, प्याज, शिमला मिर्च, टमाटर से लेकर लगभग सभी सब्जियों की खुदरा कीमत काफी बढ़ गई है. टमाटर एक बार फिर 80 रुपये किलो बिक रहा है. वहीं आलू 40 से 45 रुपये किलो तक पहुंच चुका है.राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में टमाटर का खुदरा दाम 60 से 80 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गए हैं. थोक मंडियों में टमाटर की सप्लाई कम होने से दाम में लगातार इजाफा हो रहा है. यूपी, राजस्थान, झारखंड, पंजाब, तमिलनाडु, केरल, जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश में इस बार टमाटर की पैदावार पर असर पड़ा है. देश में टमाटर का सालाना उत्पादन 1.97 करोड़ टन और खपत 1.51 करोड़ टन की है. आलू की कीमत में कोई राहत नहीं आलू की कीमतों में कोई राहत नहीं दिख रही है. खुदरा बाजार में आलू 35 से 45 रुपये किलो तक बिक रहा है. प्याज के दाम भी 35 रुपये किलो तक पहुंच गए हैं.

लौकी के दाम भी 40 रुपये किलो पर पहुंच गए हैं. शिमला मिर्च और टिंडा 80 से 100 रुपये किलो तक बिक रहा है. पालक साग 50 से 60 रुपये किलो तक पहुंच गया है. कुछ सब्जी उत्पादक राज्यों में बाढ़ की वजह से सब्जियों की सप्लाई पर असर पड़ा है. इसके अलावा राज्यों में लगातार लगाए जाने वाले लॉकडाउन की वजह से सप्लाई प्रभावित हुई है. दिल्ली की आजादपुर मंडी में काम करने वाले आढ़तियों का कहना है कि सब्जियों के दाम में और इजाफा देखने को मिल सकता है. पिछले सीजन में आलू किसानों की दुर्दशा की वजह से इस बार आलू का रकबा कम था. लिहाजा सप्लाई कम होने की वजह से आलू के दाम गिर नहीं रहे हैं. प्याज के दाम फिर बढ़ रहे, बेकाबू हो सकते हैं हालात आढ़तियों का कहना है कि यह हाल प्याज का भी हो सकता है. पिछले कुछ वक्त से प्याज के दाम में इजाफा देखने को मिला था लेकिन सप्लाई ठीक होने से इसके दाम घट गए थे. लेकिन प्याज के दाम अब फिर बढ़ते हुए दिख रहे हैं. कई राज्यों में बाढ़ के पानी से टमाटर की फसल खराब हुई है. मंडियों में टमाटर के दाम इसलिए बढ़े हुए दिख रहे हैं इंदौर की स्तिथि भी बदहाल मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में भी लगभग सभी सब्जियां, टमाटर, आलू, आदि के दाम असमान छू रहे हैं. बारिश के कारण बहुत सी जगह फसल भी ख़राब हुई है नतीजतन सब्जियों के दामों में वृध्ही देखने को मिली है. हालाँकि जिले में प्याज़ की पैदावार अच्छी होने से प्याज़ के दामों में थोड़ी रहत है.

Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: