Press "Enter" to skip to content

इंदौर में जितना पानी इस्तेमाल किया उतना देना होगा शुल्क

अब नाप कर मिलेगा पानी, नलों में लग रहे मीटर, एक हजार लीटर पर 23 रुपए चार्ज
इंदौर। सालों बाद अब घरों में आने वाला नर्मदा का पानी महंगा होने की तैयारी में है। नगर निगम व निजी कंपनी की टीमें अब नल कनेक्शन पर मीटर लगा रही है। करीब 13 हजार घरों में मीटर लग गए है।
अगले महीने में शहर के 9 जोन में पानी वितरण की मीटर से रीडिंग शुरू होने की तैयारी है। जितने पानी का इस्तेमाल किया उस हिसाब से बिल चुकाना होगा। एक हजार लीटर पानी का इस्तेमाल करने पर 23 रुपए चार्ज लगाने की तैयारी है, जिससे ज्यादा शुल्क देना होगा।
नगर निगम ने पहले पानी टंकी का काम निजी कंपनी को सौंपा और फिर बाद में तमाम विरोध को नजरंदाज करते हुए वितरण का काम भी उन्हें ही सौंप दिया। अब निजी कंपनी को साथ लेकर नल कनेक्शन में मीटर लगाने का काम भी शुरू कर दिया है।
करीब 5 साल पहले नगर निगम ने जितना पानी का इस्तेमाल उस आधार पर शुल्क लेने की कवायद पर काम शुरू किया था और अब आने वाले एक दो महीने में यह व्यवस्था लोगू होने जा रही है।
अभी मीटर लगाए जा रहे है, जल्द ही कुछ इलाकों के हर कनेक्शन पर मीटर लग जाएंगे। नई नगर निगम परिषद को इसके रेट तय करना है लेकिन अभी अफसरों ने एक हजार लीटर पानी के सप्लाय पर 23 रुपए का शुल्क लेने का प्रस्ताव बनाया है।
अभी 200 रुपए फिक्स चार्ज है। चूंकि नर्मदा का पानी लाकर सप्लाय करना काफी महंगा पड़ता है इसलिए ज्यादा चार्ज वसूलने वसभी ठीक रहा है तो अगलेे एक महीने में 9 जोन में मीटर से शुल्क लिया जाएगा।
इन इलाकों में लग रहे मीटर
पानी वितरण को मापने के लिए कई इलाकों में मीटर लगना शुरू हो गए है। निगम को मीटर लगाना है लेकिन वे पीछे है, निजी कंपनी तेजी से मीटर लगा रही है। अभी तक स्कीम न. 78, स्कीम न. 71, स्कीम न. 140, स्कीम न. 114 पार्ट 2, भूरी टेकरी, रेती मंडी, सुर्वसुविधानगर, मित्र बंधु नगर, केट रोड, वैशाली नगर, जनता कॉलोनी, कुलर्णी भट्टा, कुशवाह नगर, गोय विहार तेजाजीनगर, तपेश्वरी बाग इलाके के 13 हजार मकानों में मीटर लग गए है। कंपनी के जीएम डीजे मुद्गल के मुताबिक, कंपनी 30 हजार मीटर लगाएगी, करीब 2 लाख मीटर निगम को लगाना है।
हर महीने होगी रीडिंग, हाथों हाथ मिलेगा बिल, ऐप पर कर सकेंगे शिकायत
मीटर लगने के बाद उपभोक्ता को मिलने वाले पानी की रीडिंग हर महीने ली जाएगी और मौके पर ही बिल दे दिया जाएगा। अगर गंदा पानी, लीकेज, पानी नहीं आना जैसी शिकायत है तो निगम के 311 ऐप्लीकेशन पर शिकायत की जा सकेगी।
यहां से मिलेगी मदद
जल्द ही यह कॉलम ऐप में जुड़ जाएगा। सााथ ही मूसाखेड़ी, स्कीम न. 78, स्कीम 71, सर्वसुविधानगर, नरवल में सहायका केंद्र खोले जा रहे। यहां भी लोग शिकायत कर सकेंगे।
24 घंटे पानी देने की भी प्लानिंग
मीटर लगाने के बाद निगम 24 घंटे पानी देने की प्लानिंग पर काम कर रहा ह। अभी कई इलाके में एक दिन छोड़कर व कई जगह हर दिन पानी मिल रहा है। हर दिन एक घर में 500 लीटर पानी अभी पहुंंंच रहा है। हर दिन इतना पानी मिला तो न्यूनतम 345 रुपए वसूलने की तैयारी है।
अभी 13 हजार में लगें मीटर
नर्मदा परियोजना के कार्यपालन यंत्री संजीव श्रीवास्तव के मुताबिक, अभी 13 हजार में मीटर लगे है। शहर में 2 लाख 70 हजार कनेक्शन है। सभी में लगाएं जाएंगे। शुल्क व कब से बिलिंग शुरू हुई है इसकी तारीख तय नहीं हुई है।
Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: