Press "Enter" to skip to content

भूमाफिया पहले घरों से भागे और अब एसआइटी को न मिले सबूत, इसलिए फोन भी तोड़े

0

 8 total views

3250 करोड़ के जमीन घोटाले में शामिल भूमाफिया विशेष जांच दल (एसआइटी) और पुलिस को खूब छका रहे हैं। पहले घरों से भागे और फोन भी तोड़ डालें। एसआइटी आरोपितों को पकड़ना तो दूर मोबाइल फोन से डेटा तक नहीं निकाल सकी। थक हारकर इनामी राशि बढ़ा दी।

पूर्वी क्षेत्र के एसपी आशुतोष बागरी और एएसपी राजेश रघुवंशी ने सोमवार को भूमाफिया सुरेंद्र संघवी के प्रगति विहार स्थित घर पर छापा मारा। टीम यहां पहुंची तो उनकी पत्नी ज्योति मिली। पूछताछ में कहा-सुरेंद्र कहां गए, उन्हें कुछ नहीं पता। जैसे ही आएंगे थाने भेज देंगे।

फिलहाल घर पर सिर्फ महिलाएं ही है। एसपी ने मामले के बारे में जानकारी दी और तलाशी का बोला। सिपाहियों ने पूरे घर की तलाशी ली तो दो टूटे मोबाइल फोन मिलें। आरोपितों ने मोबाइल फोन टूट गए थे और पानी में डूबो दिए थे। पुलिस को शक है कि आरोपित मोबाइल फोन घर छोड़ गए थे। एसआइटी उसमें से डेटा न निकाल पाए। इसलिए घर वालों से बोल कर तुड़वा दिए। हालांकि अधिकारियों ने मोबाइल फोन की जब्ती नहीं दर्शाई है।

प्रतीक का पासपोर्ट भी जब्त

पुलिस ने सुरेंद्र संघवी के घर से बेटे प्रतीक का पासपोर्ट भी जब्त कर लिया। विदेश भागने की आशंका में आरोपितों का लुकआउट नोटिस पहले ही जारी हो चुका है। इसके बाद टीम ने दीपक जैन उर्फ मद्दा के घर की भी तलाशी ली। हालांकि यहां कुछ खास जानकारी और रिकॉर्ड नहीं मिला। डीआइजी मनीष कपूरिया के मुताबिक सभी पर इनामी राशि 20-20 हजार रुपये कर दी है। कईं लोगों की कॉल डिटेल निकाली जा रही है।

आगे पढ़े

Spread the love

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.