Press "Enter" to skip to content

एमपी के पश्चिमी क्षेत्र के तापमान में आठ डिग्री तक की गिरावट दर्ज, कई हिस्सों में बारिश भी हुई, अब फिर उछलेगा परा

मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई। आठ डिग्री तक पारा लुढ़का है। कई हिस्सों में हल्की बारिश भी हुई है। आज भी कुछ हिस्से में बारिश-आंधी की चेतावनी जारी की गई है। सीधी में सबसे गर्म रात रही, यहां 28.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। वहीं सतना का दिन सबसे गर्म रहा।

मौसम केंद्र की रिपोर्ट कहती है कि अनूपपुर जिले में कहीं-कहीं वर्षा दर्ज की गई। मालवा-निमाड़ में छींटे पड़े हैं। मप्र के पश्चिमी हिस्से में तापमान में काफी गिरावट रही।

मौसम विभाग का पूर्वानुमान कहता है कि अगले 24 घंटों में रीवा, शहडोल संभागों के जिलों में तथा बालाघाट, बैतूल जिलों में कहीं-कहीं वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। तेज हवा चलने की संभावना भी है। मौसम विभाग ने यहां के लिए चेतावनी देते हुए यलो अलर्ट दिया है।

प्रदेश के बड़े शहरों भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर का अधिकतम तापमान क्रमशः 35.5, 33.1, 38.8, 41 डिग्री सेल्सिअस, एवं न्यूनतम तापमान क्रमशः 21.8, 22.4, 23, 27.8 डिग्री सेल्सिअस दर्ज किया गया।

क्यों बदल रहा मौसम

मौसम के करवट बदलने के संबंध में मौसम जानकारों का कहना है कि मध्य प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाले चार सिस्टम फिलहाल एक्टिव हैं। पूर्व-उत्तर हिस्से में एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है।

विदर्भ और तेलंगाना तक एक ट्रफ रेखा गुजर रही है। इससे राज्य के कई स्थानों पर बादल छाए रहेंगे। इसके साथ ही कुछ हिस्सों में हल्की बारिश भी होगी। पाकिस्तान और उससे लगे राजस्थान पर भी हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है।

उत्तरी छत्तीसगढ़ पर हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। एक पश्चिमी विक्षोभ गुजरात और उससे लगे राजस्थान के आसपास हवा के ऊपरी भाग में ट्रफ के रूप में बना हुआ है।

इन चार सिस्टम के असर से पूर्वी मप्र में बादल छाए हुए हैं। मौसम विशेषज्ञों ने बताया कि पश्चिमी मप्र से अब बादल छंटने लगे हैं। जिसके चलते मप्र में एक बार फिर दिन का तापमान उछाल भरेगा, 3 से 4 डिग्री तक की बढ़त दर्ज की जाएगी।

Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »
%d bloggers like this: