Press "Enter" to skip to content

गाइडलाइन्स उल्लंघन पर ट्विटर ने बैन किए 46,000 भारतीय अकाउंट

ट्विटर ने अपनी गाइडलाइन्स का उल्लंघन करने पर मई में भारतीय यूजर्स के 46,000 से अधिक अकाउंट्स पर प्रतिबंध लगा दिया, माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ने रविवार को अपनी मंथली कंपाइलेंस रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की है। रिपोर्ट के अनुसार, ट्विटर ने बाल यौन शोषण, नॉन-कॉन्सेंसुअल न्यूडिटी और इसी तरह के कंटेंट के लिए 43,656 अकाउंट्स को बैन किया है जबकि 2,870 अकाउंट्स को आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए बैन किया है।

भारत में 1,698 शिकायतें मिलीं
प्लेटफार्म को 26 अप्रैल, 2022 और 25 मई, 2022 के बीच अपने लोकल ग्रीवांस मैकेनिज्म के माध्यम से भारत में 1,698 शिकायतें मिलीं। इसमें ऑनलाइन अब्यूज़/हैरेसमेंट (1,366), हेटफुल कंडक्ट (111), मिस इंफॉर्मेशन और मैनिपुलेटेड मीडिया (36), सेंसिटिव एडल्ट कंटेंट (28), इम्पर्सोनेशन (25) से संबंधित शिकायतें शामिल हैं।

प्लेटफॉर्म ने इस अवधि के दौरान 1,621 यूनिफ़ॉर्म रिसोर्स लोकेटर (यूआरएल) के खिलाफ भी कार्रवाई की, जिसमें ऑनलाइन उत्पीड़न (1,077), हेटफुल कंडक्ट (362) और सेंसिटिव एडल्ट कंटेंट (154) से संबंधित मानदंडों का उल्लंघन करने वाले यूआरएल शामिल हैं।

इसके अलावा, ट्विटर ने 115 शिकायतों पर भी कार्रवाई की, जिसमें अकाउंट सस्पेंशन की अपील की गई थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि कोई अकाउंट सस्पेंशन रद्द नहीं किया गया।

प्लेटफॉर्म पर गलत व्यवहार बर्दाश्त नहीं- ट्विटर

ट्विटर ने रिपोर्ट में कहा, “हालांकि हम अपने प्लेटफॉर्म पर खुद को व्यक्त करने के लिए हर किसी का स्वागत करते हैं, हम ऐसे व्यवहार को बर्दाश्त नहीं करते हैं जो दूसरों की आवाज को दबाने के लिए परेशान करता है, धमकी देता है, अमानवीय करता है या डर का इस्तेमाल करता है।

” इस बीच, रविवार को मंथली ट्रांसपेरेंसी रिपोर्ट के अनुसार, गूगल इंडिया ने बाल यौन शोषण और हिंसक चरमपंथी कंटेंट जैसी हानिकारक कंटेंट के प्रसार को रोकने के लिए ऑटोमेटेड डिटेक्शन के माध्यम से मई में 393,303 हार्मफुल कंटेंट को हटाया।

मई ने वॉट्सऐप ने बैन किए 19 लाख अकाउंट
मई में उपयोगकर्ता की शिकायतों के परिणामस्वरूप टेक दिग्गज ने कंटेंट के 62,673 पीस भी हटा दिए। शुक्रवार को, मेटा के स्वामित्व वाले वॉट्सऐप ने भी घोषणा की कि उसने नए आईटी नियम 2021 के अनुपालन में मई के महीने में भारत में 19 लाख से अधिक खराब अकाउंट्स पर प्रतिबंध लगा दिया है।

प्लेटफॉर्म ने अप्रैल में भारत में 16.6 लाख से अधिक खराब अकाउंट्स पर प्रतिबंध लगा दिया था। कंपनी को देश के भीतर मई में 528 शिकायत रिपोर्ट भी मिलीं, और “कार्रवाई” वाले खाते 24 थे। अप्रैल में, वॉट्सऐप को देश के भीतर 844 शिकायतें मिलीं, और “कार्रवाई” वाले खाते 123 थे

नए नियम के तहत आती है रिपोर्ट
नए आईटी नियम 2021 के तहत, 5 मिलियन से अधिक यूजर्स के साथ बड़े डिजिटल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को मंथली कंपाइलेंस रिपोर्ट प्रकाशित करनी होती है.

Spread the love
More from National NewsMore posts in National News »
%d bloggers like this: