Press "Enter" to skip to content

कोरोना काल के बिजली बिल माफ होने से ग्रामीणों को मिली बड़ी राहत : मंत्री सिलावट

लाभान्वित उपभोक्ताओं को जल संसाधन मंत्री सिलावट ने किए प्रमाण-पत्र वितरित
इन्दौर। जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा है कि राज्य शासन द्वारा कोरोना काल के लंबित बिजली बिलों के माफ करने से नागरिकों को बड़ी राहत मिली है। राज्य शासन का यह बड़ा निर्णय है। राज्य शासन ने इस निर्णय को अमल में लाते हुए उपभोक्ताओं को बिजली बिल माफी के प्रमाण-पत्र देने का काम भी शुरू कर दिया है।
मंत्री सिलावट आज इन्दौर जिले के चंद्रावतीगंज में आयोजित बिजली बिल माफी प्रमाण-पत्र वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व विधायक डॉ. राजेश सोनकर ने की। मंत्री सिलावट ने कार्यक्रम में अजनोद, चंद्रावतीगंज तथा पालिया क्षेत्र के उपभोक्ताओं को बिजली बिल माफी प्रमाण-पत्र वितरित किये। कार्यक्रम में बताया गया कि इस क्षेत्र के कुल पांच हजार से अधिक उपभोक्ताओं को 2 करोड़ 58 लाख रूपए की बिजली बिल राहत(माफी) प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री बिजली बिल राहत योजना के तहत हर पात्र उपभोक्ता को शिविर लगाकर राहत प्रमाण पत्र वितरित किए जा रहे है।
मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि सांवेर के प्रत्येक बिजली केंद्र पर हजारों उपभोक्ताओं को कोरोना काल के लंबित बिलों से राहत दी गई है, यह सरकार का गरीबों एवं निम्नवर्ग को संबल देने की भावना का सबसे बड़ा सबूत है। इस अवसर पर पूर्व विधायक डॉ. राजेश सोनकर ने कहा कि प्रदेश सरकार हर वर्ग के विकास एवं सभी की कठिनाइयों के समाधान व सौगात देने लिए प्रतिबद्ध है। सरकार आमजन की परेशानियों के निदान के लिए बहुत ही समर्पित भाव से कार्य कर रही है। राहत प्रमाण-पत्र वितरण अवसर पर अधीक्षण यंत्री डॉ. डी.एन. शर्मा ने कहा कि जिले में किसानों को दैनिक दस घंटे एवं अन्य वर्ग के उपभोक्ताओ को चौबीस घंटे बिजली दी जा रही है, नए ग्रिड भी तैयार करने की मंजूरी मिल चुकी है। सभी पात्र घरेलू उपभोक्ताओं को कोराना काल 2020 के अगस्त की स्थिति में लंबित बिलों को माफ किया जा चुका है। आभार कार्यपालन यंत्री अभिषेक रंजन ने माना।
Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: