Press "Enter" to skip to content

अमेरिका के बाद दुनिया का दूसरा इन्फेंट्री म्यूजियम: महू में बने संग्रहालय ने संजोया 1747 से 2020 तक का इतिहास

इंदौर. इंदौर के महू में देश का पहला इन्फेंट्री संग्रहालय आम जनता के लिए खोला गया है। यह संग्रहालय देश का पहला और दुनिया का दूसरा संग्रहालय है। इसके पहले अमेरिका में ऐसा म्यूजियम बनाया गया है। इन्फेंट्री स्कूल की स्थापना के 75वें वर्ष की पूर्व संध्या और विजय दिवस मनाने के लिए सेना ने शुक्रवार को इसकी शुरुआत की।

विश्व स्तरीय संग्रहालय की स्थापना इन्फेंट्री को थीम लाइन इन्फेंट्री द अल्टीमेट के साथ प्रदर्शित करने के इरादे से की गई है। इस दौरान लेफ्टिनेंट जनरल पीएन अनंत नारायणन, एसएम, कमांडेंट, द इन्फेंट्री स्कूल महू ने इस औपचारिक मील के पत्थर को देखने के लिए लोगों को आमंत्रित किया। इस परियोजना की कल्पना जुलाई 2003 में एक राष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षण हॉल सह अनुसंधान केंद्र के रूप में की गई थी।

1747 से 2020 तक के इतिहास का संग्रहण
इन्फेंट्री संग्रहालय में 1747 से 2020 तक इन्फेंट्री के इतिहास की सभी झलक मौजूद है। इसमें मूर्तियों, भित्ति चित्रों और फोटो गैलरी में संरक्षित हमारे बहादुर सैनिकों की समृद्ध विरासत, गौरवशाली अतीत और सर्वोच्च बलिदान को दर्शाया गया है।

इस संग्रहालय के निर्माण पर एक दशक से काम चल रहा है। इन्फेंट्री म्यूजियम को एक लिविंग कॉन्सेप्ट म्यूजियम पर डिजाइन किया गया है, इसमें विवरण नियमित रूप से अपडेट किए जा रहे हैं। भवन को समग्र योजना के अनुसार खंडवार विकसित किया जा रहा है।

ताकि संग्रहालय भवन के अंदर और बाहर अधिक सुविचारित और एकीकृत तरीके से कलाकृतियों, रंगमंच की सामग्री, मूर्तियों, प्रदर्शनियों और प्रदर्शनों को रखने के लिए प्रत्येक खंड को विकसित करने के अनुभव का उपयोग किया जा सके।

म्यूजियम की इस तीन मंजिला इमारत को दो एकड़ जमीन में बनाया गया है। इसमें 17 अलग-अलग कमरे हैं जो 30 विषय क्षेत्रों में कालानुक्रमिक क्रम में 1747 से भारतीय इन्फेंट्री के इतिहास और विकास को कवर कर रहे हैं।

Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »