Press "Enter" to skip to content

अमृतसर: शिवसेना नेता सुधीर सूरी की हत्या, मान सरकार कटघरे में

हमलावर ने चलाई थीं 5 गोलियां, कार में मिली कॉमेडियन भारती सिंह की फोटो

अमृतसर में शिवसेना नेता सुधीर सूरी की हत्या कर दी गई। वे शिव सेना हिंदुस्तान के प्रधान थे. पुलिस ने बताया कि सुधीर सूरी गोपाल मंदिर के बाहर कूड़े में भगवानों की मूर्तियां मिलने के विरोध में मंदिर के बाहर धरने पर बैठे थे. दोपहर करीब 3:30 बजे भीड़ में से संदीप सिंह ने उन्हें गोली मारी दी.

जानकारी के मुताबिक आरोपी ने लाइसेंसे असलहे से शिवसेना नेता पर गोली चलाई थी. पांच बार गोली चली थी. गोपाल मंदिर मजीठा रोड पर स्थित है, जिसे अमृतसर की सबसे व्यस्त जगह मानी जाती है.

बीजेपी नेता तीक्ष्ण सूद ने संदीप सूरी पर हुए हमले की निंदा करते हुए कहा कि पंजाब सरकार सो रही है. सिंगर सिद्धू मूसेवाला और कबड्डी खिलाड़ी संदीप नंगल की ह्त्या हुई इसी से पता चलता कि राज्य में कानून व्यवस्था बिगड़ी हुई है. साथ ही कहा कि मान सरकार फेल हुई है.

हत्या मामले में तफ्तीश कर रही पुलिस को आरोपी संदीप सिंह की गाड़ी से एक फाइल मिली है. जानकारी के मुताबिक उस फाइल में कॉमेडियन भारती सिंह और एंटी टेररिस्ट फ्रंट के चेयरमैन मनिंदर जीत सिंह बिट्टा की फोटो है. जानकारी के मुताबिक हमलावर स्विफ्ट कार से आया था.

हमला करने के बाद जब वह कार से भागने लगा तो लोगों ने उसकी कार पर पथराव किया था. कार पर ‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख अमृतपाल सिंह की तस्वीर लगी है. अमृतपाल जरनैल सिंह भिंडरांवाले का समर्थक है. उसे खालिस्तानी समर्थक माना जाता है. पुलिस ने जब कार को जब्त कर पड़ताल शुरू की तो उन्हें कार से एक फाइल मिली, जिसमें दोनों के फोटो भी पाए गए.

शिवसेना नेता की बढ़ाई गई थी सुरक्षा

23 अक्टूबर को पंजाब में एसटीएफ और अमृतसर पुलिस ने पिछले महीने 4 गैंगस्टर को गिरफ्तार किया था. पकड़े गए गैंगस्टर रिंदा और लिंडा के गुर्गे था. उन्होंने पूछताछ में बताया था कि वे शिवसेना नेता सुधीर सूरी पर हमले की साजिश रच रहे थे. उनकी रेकी भी कर चुके थे. आरोपियों ने यह भी बताया था कि उन्होंने सूरी पर दीवाली से पहले हमला करने की योजना बनाई थी. इसके बाद पंजाब के कई गैंगस्टरों से धमकी मिलने के बाद पंजाब पुलिस ने उन्हें सुरक्षा दे दी थी. हमले के वक्त पंजाब के आठ पुलिस अधिकारियों को तैनात किया गया था. इसके बाद भी हमलावर ने पुलिस के सामने उन्हें गोली मार दी.

अमृतसर का ही रहने वाला है हमलावर

पुलिस ने बताया कि हमलावर अमृतसर का ही रहने वाला है. वह पेशे से दुकानदार है. पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद कहा- हम किसी को नहीं छोड़ेंगे. हम मामले की जांच करेंगे और इसकी तह तक जाएंगे. पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि उसे शिवसेना नेता की हत्या क्यों की?

डीजीपी ने अफवाह फैलाने पर दी चेतावनी

डीजीपी गौरव यादव ने बताया कि हमलावर अमृतसर के नजदीक कपड़ों की दुकान चलाता है. उसके पास से .32 बोर का पिस्तौल बरामद किया गया है. यह लाइसेंसी हथियार है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है. डीजीपी ने लोगों से अपील की कि वे अपने प्लेटफॉर्मों या सोशल मीडिया पर गैर-प्रमाणित बातें/खबरें पोस्ट न करें. इसके साथ ही अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी.

Spread the love
More from National NewsMore posts in National News »
%d bloggers like this: