Press "Enter" to skip to content

राहुल गांधी से ईडी की पूछताछ जारी, आज फिर से बुलाया

देश. नेशनल हेराल्ड मामले में पिछले सप्ताह लगातार तीन दिन की पूछताछ के बाद सोमवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से ईडी ने फिर पूछताछ की। सूत्रों का कहना है कि उन्हें मंगलवार को फिर पूछताछ में शामिल होने को कहा गया है।

राहुल गांधी सीआरपीएफ जवानों की ‘‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा के साथ सुबह 11 बजकर करीब पांच मिनट पर मध्य दिल्ली में एपीजे अब्दुल कलाम रोड पर स्थित ईडी मुख्यालय पहुंचे थे। एक दिन पहले ही राहुल गांधी का 52वां जन्मदिन था। वहीं सोनिया गांधी को आज अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

केंद्रीय जांच एजेंसी के कार्यालय के आसपास पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवानों को भारी संख्या में तैनात किया गया है और धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू है। राहुल गांधी करीब तीन बजकर 30 मिनट पर लंच के लिए ईडी दफ्तर से बाहर निकले और लगभग एक घंटे के बाद फिर ईडी कार्यालय पहुंचे थे।

पिछले सप्ताह सोमवार, मंगलवार और बुधवार को लगातार तीन दिन ईडी के अधिकारियों ने 52 वर्षीय राहुल गांधी से 30 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी, जिस दौरान धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत उनके बयान दर्ज किये गए थे।

मां सोनिया की तबीयत खराब होने की वजह से मिली थी छूट
उन्हें बीते शुक्रवार को फिर से जांच एजेंसी के समक्ष पेश होना था, लेकिन कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने अपनी मां सोनिया गांधी के बीमार होने के कारण ईडी के जांच अधिकारी को पत्र लिख कर उन्हें शुक्रवार (17 जून) के लिए निर्धारित पूछताछ से छूट देने का अनुरोध किया था। ईडी ने उनके अनुरोध को स्वीकार कर लिया था और 20 जून को पेश होने के लिए कहा था।

कौन से सवाल पूछे गए?

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को कोविड-19 से जुड़ी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ईडी ने सोनिया गांधी को इसी मामले में 23 जून को तलब किया है। समझा जाता है कि ‘यंग इंडियन’ की स्थापना, ‘नेशनल हेराल्ड’ के संचालन और असोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) को कांग्रेस द्वारा दिए गए कर्ज व मीडिया संस्था के भीतर धन के हस्तांतरण से जुड़े सवाल राहुल गांधी से पूछे गए गए हैं।

‘यंग इंडियन’ के  शेयरहोल्डर में सोनिया गांधी व राहुल गांधी सहित कांग्रेस के कुछ अन्य नेता शामिल हैं। कांग्रेस ने ईडी की कार्रवाई को भाजपा नीत केंद्र सरकार की विपक्षी नेताओं के खिलाफ बदले की राजनीति करार दिया है।

Spread the love
More from National NewsMore posts in National News »
%d bloggers like this: