Press "Enter" to skip to content

स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता ठीक बनने के लिए एक स्वतंत्र इकाई का गठन

नई दिल्ली। स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता, मानक एवं मूल्यांकन प्रणाली को ठीक बनाने के लिये राष्ट्रीय स्तर पर एक स्वतंत्र इकाई का गठन किया है। इस प्रस्तावित एजेंसी को ‘परख’ नाम दिया गया है। एनसीईआरटी के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।
राष्ट्रीय शिक्षा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के अधिकारी ने बताया कि इस निकाय के गठन के लिए परिषद ने अंतरराष्ट्रीय परामर्श एजेंसियों से 2 सितंबर 2022 तक रुचि पत्र आमंत्रित किया है।
योजना के मसौदे के अनुसार, राष्ट्रीय मूल्यांकन केंद्र के रूप में समग्र विकास के लिए ज्ञान प्रदर्शन, मूल्यांकन, समीक्षा, आकलन (परख) की स्थापना शिक्षा मंत्रालय के तहत एक मानक निर्धारण निकाय के रूप में की जाएगी।
इसका दायित्व राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत निर्धारित कार्यो के साथ छात्रों के मूल्यांकन को लेकर नियम, मानक, दिशा निर्देश एवं अनुपालन से जुड़ी गतिविधियां तय करना होगा। इसमें कहा गया है कि, ‘‘ परख को राष्ट्रीय शिक्षा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के एक स्वायत्त घटक के रूप में किया जाना प्रस्तावित है।’’
‘परख के दायित्वों में सीखने के मूल्यांकन के लिये तकनीकी सहयोग देना, राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण को मजबूत बनाना, मूल्यांकन के लिए क्षमता निर्माण को सुदृढ़ बनाना, देश में छात्रों में सीखने के परिणामों की निगरानी एवं सूचना प्रदान करना, परीक्षा बोर्ड का मार्गदर्शन करना, गठजोड़ स्थापित करना आदि शामिल होगा।
‘परख’ की टीम में, भारत और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शिक्षा व्यवस्था की गहरी समझ रखने वाले, मूल्यांकन से जुड़े शीर्ष विशेषज्ञ शामिल होने वाले हैं।
Spread the love
More from Education NewsMore posts in Education News »
%d bloggers like this: