Press "Enter" to skip to content

देश में 15 से 18 वर्ष तक बच्चों के टीकाकरण मामले में कांग्रेस ने टीकों की उपलब्धता पर सवाल उठाया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 15 वर्ष से अधिक किशोरों के कोरोना टीकाकरण किए जाने की कल की घोषणा के एक दिन बाद रविवार को कांग्रेस ने इनकी उपलब्धता पर सवाल उठाते हुए देश में तीन वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को भी टीके लगाए जाने की मांग की।

कांग्रेस के महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा- क्या मोदी सरकार का ओमिक्रोन वेरिएंट के प्रति इस तरह का ढीला रवैया देश को असफलता की तरह धकेल रहा है? क्या देश की कोरोना टीकाकरण नीति पर नेतृत्व की असफलता का प्रभाव है। इस नीति में बिना किसी योजना के तैयारी ठोस प्रतिक्रिया का अभाव है।

उन्होंने कहा कि मात्र बयानबाजी करने या फिर टेलीविजन पर आने से कोरोना से बुरी तरह प्रभावित हुए लोगों के दर्द को कम नहीं किया जा सकता है सरकार प्रत्येक दिन कोरोना टीकाकरण में बदलाव कर अपनी जिम्मेदारी से नहीं भाग सकती है।

उन्होंने कहा कि सरकार लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है देश के उन 47.95 करोड़ लोगों का क्या होगा जिनकी कोरोना की दूसरी डोज अभी बाकी है।

श्री सुरजेवाला ने कहा सरकारी आंकड़ों के अनुसार देश में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों की जनसंख्या 94 करोड़ हैं सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 25 दिसंबर तक 36.50 करोड़ लोगों को कोरोना की दूसरी डोज नहीं लगी है जबकि 11.45 करोड़ लोगों को एक भी डोज नहीं दी गई है। सरकार कह रही है कि देश में कोरोना टीके बनाने की क्षमता 16.80 करोड़ प्रतिमाह है लेकिन आवश्यक रूप जरूरी टीकों की संख्या 95 करोड़ हैं । लोगों को मात्र 149 दिनों में कोरोना टीकाकरण कैसे संभव हो सकेगा।

गौरतलब है कि श्री मोदी ने शनिवार को घोषणा की थी कि देश में 15 से 18 वर्ष तक की आयु के किशोरों को कोरोना वैक्सीन लगाए जाने की प्रक्रिया तीन जनवरी 2022 से शुरू की जाएगी।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज़ फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ सद्भावना पाती टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

Spread the love
More from National NewsMore posts in National News »
More from UncategorizedMore posts in Uncategorized »
%d bloggers like this: