Press "Enter" to skip to content

Indore Metro New Update – इंदौर मेट्रो का होगा विस्तार : 1400 करोड़ में बनेगा ट्रेक और स्टेशन, उज्जैन तक बढ़ाया जा सकता है प्रोजेक्ट 

Indore Metro Train News –  दिल्ली, मुंबई की तरह इंदौर में भी जल्द ही मेट्रो दौड़ेगी। इसका काम तेजी से चल रहा है और 2023 तक यह प्रोजेक्ट पूरा हो जाने का दावा किया जा रहा है। करीब 14 सौ करोड़ रुपये के इंदौर मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के पूरा हो जाने के बाद आम लोगों को आवाजाही में खासी सहूलियत हो जाएगी. खास बात यह है कि इंदौर मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को उज्जैन तक बढ़ाया जा सकता है. इसके लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सर्वे करने को भी कहा है।

इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट में 31.55 किलोमीटर की लंबाई में कुल 29 स्टेशन बनाए जाएंगे. इनमें 23 स्टेशन एलिवेटेड होंगे और 6 अंडरग्राउंड स्टेशन होंगे। एमजी रोड पर मेट्रो रीगल चौराहे से होते हुए एलिवेटेड रूट पर शास्त्री ब्रिज के समानांतर जाएगी. जिला कोर्ट के सामने यह अंडरग्राउंड हो जाएगी। उसके बाद मेट्रो राजबाड़ा के अंडरग्राउंड स्टेशन पर जाएगी. पूरे मेट्रो रूट का सबसे आखिरी एलिवेटेड मेट्रो स्टेशन इंदौर रेलवे स्टेशन पर होगा।

मेट्रो लाइन को वलय (रिंग) के रूप में इस तरह बिछाया जा रहा है कि यह अहिल्याबाई होल्कर हवाई अड्डे से शुरू होकर अलग-अलग हिस्सों से गुजरने के बाद हवाई अड्डे पर ही खत्म होगी. अब सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसके विस्तार की बात कही है. इंदौर मेट्रो रेल परियोजना को धार्मिक नगरी उज्जैन से जोड़ने की बात कही जा रही है. इसके साथ ही मेट्रो रेल पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र तक बढ़ाने के लिए भी कवायद की जा रही है. इसके लिए अधिकारियों को सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए जा चुके हैं।

इंदौर मेट्रो रेल के काम में तेजी लाने के लिए अब दूसरे लांचर से सेगमेंट लांच करने का काम किया जा रहा है। इससे विजय नगर क्षेत्र के पिलर पर सेगमेंट लगाए जा रहे हैं। अभी एमआर-10 इलाके में एक लांचर से पिलर को सेगमेंट से जोड़ा गया है। मेट्रो रेल कंपनी के 600 सेगमेंट तैयार हैं। इसमें एयरपोर्ट से रोबोट चौराहे तक अगले साल सितंबर तक ट्रायल रन का लक्ष्य है। अधिकारियों के अनुसार एमआर-10 टोल नाके से लेकर रोबोट चौराहे तक कुल 181 पिलर तैयार किए जाने हैं। यहां मेट्रो रेलवे स्टेशन का काम भी चल रहा है। एमआर-10 के पुल के यहां आईएसबीटी स्टेशन बन रहा है।

Spread the love
%d bloggers like this: