Press "Enter" to skip to content

एक और इबारत लिखेगा इंदौर, सबका दोस्त बनेगा साइबर मित्र

साइबर सुरक्षा तथा जागरूकता को लेकर सत्र संपन्न

शक्ति यादव ‘इशायु’

इंदौर. इंदौर में साइबर सुरक्षा को लेकर एक नई पहल शुरू की गई, सायबर सुरक्षा तथा सायबर जागरूकता उपलब्ध कराने के उद्देश्य से “सायबर मित्र” अभियान का आरम्भ किया गया,  एआईसीटीएसएल के बोर्ड रूम में शुरू हुए इस इस कार्यक्रम की अध्यक्षता इंदौर महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने की, इस अवसर पर इंदौर के कई इन्फुलेंसर और यंग अचीवर्स को भी निमंत्रण दिया गया था, शहर के कई मशहूर चेहरे यहाँ मौजूद रहे सभी ने मिलकर इंदौर को सायबर सेफ बनाने का संकल्प लिया,

कार्यक्रम में स्पीकर के तौर पर साइबर क्षेत्र के वकील और एक्सपर्ट रोहित जैन, चेतक वाजपई, सनी बाधवानी और अक्षय कुमार जाधव मौजूद रहे उन्होंने लोगों को साइबर सुरक्षा को लेकर जागरूक किया एवं जानकारी दी.साइबर मित्र पूरे भारत का पहला अवेयरनेस प्रोग्राम है जिसे नगर निगम द्वारा जारी किया गया,इस सत्र में साइबर क्राइम, लोग इसमें किस तरफ से फंसते हैं, बचने के तरीके और साइबर लॉ के बारे में जानकारी दी गई, उपस्थित सभी  इन्फ्लुएंसर्स से अपील की गई कि वे अपने सोशल मीडिया से लोगों को इसके बारे में अवगत कराए.

महापौर भार्गव ने अपने व्यक्तत्व  में जानकारी दी कि उन्होंने भी 2004 में मुंबई से साइबर सिक्यूरिटी में डिप्लोमा लिया तभी से उन्होंने तय किया था कि वे लोगों को इस बारे में जागरूक करेंगे, उन्होंने कहा महाभारत रामायण समय में भी एक जगह से दूसरी जगह प्रकट होने की विद्या थी, इन्टरनेट का अविष्कार सबको एक सूत्र में बांधने के लिए किया गया था परन्तु अब उसका इस्तेमाल सत्ता पाने के लिए किया जा रहा है, वे बोले एक्सेस ठीक है पर रोंगफुल एक्सेस गलत है, जिससे आप और हम सबको बचना चाहिए, महापौर ने बताया जब उनकी पहली बैठक हुई तब ही ये फैसला लिया था कि इंदौर में हर जगह सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे, वो भी पब्लिक प्राइवेट  पार्टनरशिप के माध्यम से. उन्होंने कहा यह साइबर मित्र का पहला सत्र है जो इन्फ़ुएन्सर के साथ हो रहा है इसका दूसरा सत्र सभी पार्षदगणों के साथ किया जाएगा, एवं आखिर में इस प्रोग्राम को प्राइमरी स्कूल तक पहुँचाया जाएगा जहाँ इसकी सबसे ज्यादा जरुरत है.

इस सत्र के दौरान इंदोरी आर्टिस्ट के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति की और बेहद रोचक ढंग से साइबर फ्रॉड के प्रति जागरूक करने की कोशिश की.साइबर एक्सपर्ट्स ने पार्सल फ्रॉड, लोन पे फ्राड्स, ब्लैकमेल फ्राड्स जैसे प्रचलित फ्राड्स की जानकारी दी. आईटी एक्ट 2000 और आईपीसी की धाराओं के बारे में अवगत कराया.

कार्यक्रम के अंत में एएसपी प्रशांत चौबे ने लोगों से सतर्क रहने की अपील की उन्होंने बताया कि ऐसे अवेयरनेस प्रोग्राम की हमें जरूरत है, आप के खिलाफ होने वाले अपराधों की शिकायत आप https://cybercrime.gov.in पर कर सकते हैं.

वित्तीय साइबर अपराध के खिलाफ आप पुलिस थाने में शिकायत कर सकते हैं, 2 लाख तक के फ्रॉड के लिए आप स्थानीय पुलिस स्टेशन एवं उससे अधिक के फ्रॉड में आप पिपल्याहाना स्थित विशेष थाने में जाकर शिकायत दर्ज करा सकते हैं. इस कार्यक्रम के अंत में एएसपी ने सभी को सर्टिफिकेट बांटे और इस कार्यक्रम की सफलता के लिए विशेष शुभकामनाएं दी.

Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »