Press "Enter" to skip to content

अमरनाथ यात्रा मार्ग पर लंगर सेवा में परोसे जाएंगे इन्दौरी व्यंजन भी

-छावनी क्षेत्र के व्यापारियों ने 75 क्विटंल से अधिक खाद्य सामग्री का सहयोग दिया
-अमरनाथ में यात्रा मार्ग पर इन्दौर के श्रद्धालु तीन दिन तक निःशुल्क रह सकेंगे

इन्दौर (ईएमएस)। अमरनाथ यात्रा मार्ग पर जालंधर के ओम नमः शिवाय सेवा मंडल के लंगर पर इस बार देश-विदेश के भक्तों को इन्दौरी जायका भी मिल सकेगा। हालांकि अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने जलेबी को वहां परोसे जाने वाले व्यंजनों की सूची में शामिल नहीं किया है, लेकिन मालवा के अन्य नमकीन और मीठे व्यंजन, कचौरी, समौसे, पपड़ी, पकौड़े और इन्दौर की प्रसिद्ध सेंव, बेसन और चावल से निर्मित अन्य सामग्री अवश्य मिल सकेगी। नवलखा स्थित मनकामेश्वर कांटाफोड़ शिव मंदिर के भक्तों के सहयोग से छावनी क्षेत्र के व्यापारियों ने लंगर सेवा के लिए खुले मन से खाद्य सामग्री का दान किया है, जिसे अब ट्रकों में भरकर अमरनाथ यात्रा मार्ग के बालटाल तक पहुंचाया जाएगा। विधायक आकाश विजयवर्गीय ने आज शाम इस खाद्य सामग्री से भरे ट्रक का पूजन कर इसे अमरनाथ के भक्तों तक पहुंचाने का शुभारंभ किया।
मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष विष्णु बिंदल, संयोजक बी.के. गोयल, अजय खंडेलवाल एवं राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि मंदिर से जुड़े भक्तों की भावनाओं का ध्यान रखते हुए पिछले पंद्रह दिनों में छावनी क्षेत्र के अनाज, तिलहन, दाल-चावल, शकर एवं अन्य व्यापारियों के सहयोग से अमरनाथ यात्रा मार्ग के भक्तों के लिए लंगर की सामग्री जुटाई गई है। इसमें पांच क्विंटल बेसन, सवा क्विंटल राजमा, 15 डिब्बे घी, 20 क्विंटल शकर, 25 क्विंटल मूंगफली दाना, 2 क्विंटल मेदा, 2 क्विंटल दलिया, 100 किलो चायपत्ती, 7 कट्टे सोयाबड़ी, 300 किलो चनादाल, 60 किलो मूंग मोगर, 200 किलो उड़द, 5 क्विंटल तुअर दाल, 20 क्विंटल आटा, 60 किलो मोठ, 40 किलो लाल मिर्ची, 70 किलो मूंगदाल, 75 किलो मटका पोहा, 50 किलो राई, 60 किलो मसूर दाल, 330 किलो काबुली चना, साढ़े 3 क्विंटल पोहा, 10 किलो हल्दी, 50 डिब्बे तेल, 10 किलो गरम मसाला, 10 किलो जीरा, सवा क्विंटल साबूदाना और 12 कट्टा मिल्क पावडर सहित अनेक व्यंजनों के लिए सामग्री शामिल है। आज शाम विधायक आकाश विजयवर्गीय ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच इस सामग्री का पूजन कर इसे अमरनाथ लंगर सेवा के लिए समर्पित किया । इस अवसर पर मृदुल अग्रवाल का भी स्वागत किया गया। संयोजक बी.के. गोयल ने बताया कि यह सामग्री एक-दो दिन में मौसम की अनुकूलता को देखकर बालटाल के लिए ट्रक में भरकर भेजी जाएगी। भक्त मंडल के संदीप गोयल, नत्थूलाल शर्मा, हेम्त गर्ग पप्पू ने प्रारंभ में लंगर सेवा में छावनी क्षेत्र के व्यापारियों द्वारा दिए गए सहयोग की जानकारी दी तथा अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि बालटाल मार्ग पर स्थित ओम नमः शिवाय सेवा मंडल के लंगर नंबर 7 पर इन्दौर से जाने वाले भक्तों के लिए तीन दिन निःशुल्क रहने और आवास तथा भोजन की व्यवस्था उपलब्ध रहेगी। इस व्यवस्था का खर्च मनकामेश्वर कांटाफोड़ मंदिर ट्रस्ट वहन करेगा।
Spread the love
%d bloggers like this: