Press "Enter" to skip to content

मारुगढ़ दुष्कर्म मामला: तीन ने की थी वारदात, दो गिरफ्तार, चोरी करने गए थे, नाबालिक को देख बदली नियत

झिरन्या के मारुगढ़ में 15 वर्षीय किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि एक अन्य आरोपित फरार है। आरोपितों में दो सगे भाई हैं। इनमें से एक बदमाश का आपराधिक रिकॉर्ड भी है। शुक्रवार को पुलिस ने इस मामले का पर्दाफाश किया। पुलिस के मुताबिक आरोपित चोरी करने निकले थे। नाबालिग को देख उनकी नीयत खराब हो गई। आरोपितों ने नाबालिग के भाई से शराब के लिए रुपये मांगे। रुपये नहीं देने पर मोबाइल छीनकर मारकर उसे भगा दिया। इसके बाद नाबालिग का अपहरण कर वे खेत में ले गए जहां तीनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। डीआईजी तिलकसिंह व एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान ने बताया कि वारदात को मदन उर्फ मादलिया सुरपाल (25), झबरिया उर्फ झबरसिंग पिता भीलू (40) और राध्या पिता सुरपाल तीनों निवासी मांडवी, हाल मुकाम गलगांव थाना सनावद ने अंजाम दिया था। पुलिस ने ठोस साक्ष्यों के आधार पर मदन और झबरिया को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि तीसरा आरोपी राध्या फरार है। एसपी ने बताया आरोपितों के गिरेबां तक पहुंचने के लिए जांच टीम ने घटना के तरीके, मिले साक्ष्यों और चोरी की बाइक को आधार बनाया। सायबर और मानवीय इंटेलीजेंस की मदद ली।

आरोपित बार-बार अपना मोबाइल नंबर बदल रहे थे। यह बड़ी चुनौती था। आरोपिता जिस चोरी की बाइक को छोड़कर गए थे वह इंदौर के खुड़ेल की थी। वहां सीसीटीवी कैमरों की भी जांच की गई। घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी देखी गई। यहां तक कि गांव की वोटर लिस्ट के अनुसार भी तस्दीक की गई। फास्ट ट्रेक कोर्ट में प्रस्तुत करेंगे प्रकरण। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए 30 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया गया था। पुलिस को आरोपितों की सनावद क्षेत्र की लोकेशन मिली लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही आरोपित भाग गए। कई बार जांच में जुटी टीम भटकी भी लेकिन प्रयास जारी रखा। आरोपित पुलिस से बचने के लिए खेत में छुपे थे। जहां से उन्हें गिरफ्तार किया गया। आरोपित मदन आदतन अपराधी है। उसके खिलाफ अलग-अलग पुलिस थाना क्षेत्रों में प्रकरण दर्ज है। आरोपितों के खिलाफ पास्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया है। एसपी ने बताया कि मामले की संवेदनशीलता को समझते हुए जल्द चालान बनाकर मामला फास्ट ट्रेक कोर्ट में प्रस्तुत करेंगे जिससे आरोपितों को कड़ी सजा मिले। साथ ही पुलिस महानिरीक्षक योगेश देशमुख ने पुलिस को 30 हजार का इनाम देने की घोषणा की है।

Spread the love
More from Madhya Pradesh NewsMore posts in Madhya Pradesh News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: