Press "Enter" to skip to content

कुख्यात बदमाश एहसान उर्फ भय्यू उर्फ सुरीला, राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत निरूद्ध

आजाद नगर एवं तराना उज्जैन से आरोपी पर था 5000 /5000₹ का इनाम, बदमाश सूचीबद्ध बदमाश जिसके विरुद्ध ढाई दर्जन से अधिक कुल 32 प्रकरण विभिन्न धाराओं के तहत पंजीबद्ध जहां दिखाता था बदमाश रंगदारी वहीं निकला जुलूसइन्दौर- पुलिस थाना खजराना द्वारा क्षेत्र के कुख्यात बदमाश एहसान उर्फ भय्यू उर्फ सुरीला पिता अनवर निवासी तंजीम नगर खजराना इंदौर को राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है।

बदमाश एहसान उर्फ भय्यू उर्फ सुरीला पिता अनवर निवासी तंजीम नगर खजराना इंदौर थाना खजराना का सूचीबद्ध बदमाश है, जो क्षेत्र में लगातार अपराधिक गतिविधियों को अंजाम दे रहा था। बदमाश के विरूद्ध झगड़ा, मारपीट, अवैध वसूली, चाकूबाजी, अवैध हथियार रखने, लूट, डकैती आदि विभिन्न प्रकरण विभिन्न धाराओं में पंजीबद्ध होकर न्यायालय में विचाराधीन है।

पुलिस द्वारा आरोपी के विरूद्ध लगातार प्रतिबंधात्मक कार्यवाही भी की गई है फिर भी आरोपी की अपराधिक गतिविधियों में कोई सुधार नहीं आने से आरोपी के विरूद्ध रा.सु.का की कार्यवाही हेतु प्रकरण जिला दण्डाधिकारी इन्दौर को भेजा गया था।

जिस पर जिला दण्डाधिकारी इन्दौर द्वारा उक्त आरोपी को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत निरूद्ध करते हुए केन्द्रीय जेल इंदौर में परिरूद्ध रखने का आदेश दिया गया है, जिसके परिपालन में बदमाश एहसान उर्फ भय्यू उर्फ सुरीला पिता अनवर निवासी तंजीम नगर खजराना इंदौर को गिरफ्तार किया गया

आरोपी ने थाना आजाद नगर में 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला के घर में साथियों के साथ हथियारबंद होकर घुसकर अलमारी में सामान अस्त-व्यस्त कर सोने चांदी के आभूषण लूट लिए जिस पर थाना आजाद नगर में आरोपी एवं साथीयो के विरुद्ध धारा 394 का प्रकरण पंजीबद्ध हुआ था जिसमें आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उपायुक्त महोदय जोन 1द्वारा ₹5000 का इनाम घोषित किया गया था

आरोपी द्वारा थाना तराना जिला उज्जैन में अपने साथी के साथ मिलकर तराना के मंडल अध्यक्ष पर प्राणघातक हमला किया था जिस पर पुलिस अधीक्षक महोदय जिला उज्जैन द्वारा आरोपी की गिरफ्तारी पर रु 5000 का इनाम घोषित किया गया है

उक्त शातिर बदमाश को पकड़ने में वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी खजराना दिनेश वर्मा, उपनिरीक्षक रितेश यादव, सहायक उपनिरीक्षक प्रवेश सिंह सहायक उप निरीक्षक सुनील रैकवार प्रधान आरक्षक जीशान, विनोद, लोकेंद्र, आरक्षक पंकज की सराहनीय भूमिका रही।

Spread the love
More from Crime NewsMore posts in Crime News »
%d bloggers like this: