Press "Enter" to skip to content

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के भोपाल दौरे के सियासी मायने संगठन, सरकार और RSS से मुलाकात, जानें कब क्या ?

0

 128 total views

भाजपा के राज्‍यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया इस समय मध्‍य प्रदेश के दौरे पर हैं. इस वजह से बुधवार का दिन सूबे में सियासी मुलाकातों के नाम रहा. बता दें कि लंबे वक्त के बाद भोपाल दौरे पर आए ‘महाराज’ न केवल संगठन के पदाधिकारियों से मिले बल्कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात करने सीएम हाउस भी गए. इसके बाद शाम को उनकी मुलाकात संघ (RSS) कार्यालय समिधा में संघ के मध्य क्षेत्र के प्रचारक दीपक विसपुते से भी हुई.

ज्योतिरादित्य सिंधिया की एक दिन में एक साथ संगठन, सरकार और संघ के पदाधिकारियों से हुई इस मुलाकात के बाद मध्य प्रदेश में सियासी पारा पर चढ़ गया है.अटकलें लगाई जा रही हैं कि आखिरकार इन सियासी मुलाकातों के मायने क्या है? हालांकि जानकार मान रहे हैं कि प्रदेश कार्यसमिति के ऐलान के बाद इन मुलाकातों के सीधे तौर पर मायने कहीं ना कहीं निगम मंडलों में होने वाली नियुक्तियां हो सकती हैं. वजह जो भी हो लेकिन दिन भर चली मुलाकातों पर सिंधिया से लेकर बीजेपी के नेताओं तक ने एक सुर में एक ही जवाब दिया कि बीजेपी एक परिवार है और परिवार के सदस्यों में मुलाकातों के दौर चलते रहते हैं.

महाराज के दौरे में लंच से लेकर डिनर डिप्लोमेसी तक देखने को मिली. वह दोपहर करीब 1 बजे भोपाल एयरपोर्ट पहुंचे और वहां से सीधे बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा के चार इमली स्थित बंगले पहुंचे. वहां पर बीजेपी के प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत और सह संगठन मंत्री हितनन्द शर्मा पहले से मौजूद थे. इन तीनों के साथ सिंधिया की बंद कमरे में मुलाकात हुई और फिर एक साथ वहीं पर लंच भी किया. खास बात यह रही कि इस दौरान सिंधिया और वीडी शर्मा की गर्मजोशी से मुलाकात हुई. इसके बाद रात के वक्त करीब 8.30 बजे सिंधिया पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव के 74 बंगला स्थित बंगले पर पहुंचे जहां उन्होंने डिनर किया. गोपाल भार्गव ने शॉल और श्रीफल देकर सिंधिया को अपने घर से विदा किया. गोपाल भार्गव के बंगले पर सिंधिया के अलावा मंत्री तुलसी सिलावट, प्रद्युमन सिंह तोमर, राजवर्धन सिंह दत्तीगांव और गोविंद सिंह राजपूत भी मौजूद रहे

नरोत्तम से न मिलना रहा चर्चा का विषय : विष्णु दत्त शर्मा से मुलाकात करने के बाद दोपहर करीब 3.30 बजे ज्योतिरादित्य सिंधिया सीएम हाउस पहुंचे, जहां पर उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ बैठक की. सिंधिया और मुख्यमंत्री की मुलाकात के दौरान ही बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत और सह संगठन मंत्री हितनन्द शर्मा भी सीएम हाउस पहुंचे. इसके बाद इन सभी की भी एक साथ बैठक हुई. बताया जा रहा है कि इस दौरान निगम मंडलों में होने वाली नियुक्तियों को लेकर चर्चा की गई है. सिंधिया भोपाल में बीजेपी के लगभग सभी बड़े नेताओं से मिले लेकिन खास बात यह रही कि उन्होंने मध्‍य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात नहीं की जिसको लेकर भी सियासी माहौल गर्म रहा

महाराज ने ड्राईवर को समझाया :  उनके काफिले में शामिल वज्र वाहन कुछ ज़्यादा ही जल्दी में था. वो तेजी से दौड़े जा रहा था. इस पर ज्योतिरादित्य सिंधिया की नज़र पड़ गयी.काफिला जैसे ही शर्मा के घर पर रुका वो गाड़ी से उतरे और फौरन वज्र वाहन की और बढ़े. सिंधिया ने वज्र वाहन के चालक को बुलाया. फिर उससे कहा तुम्हारे साथ गाड़ी में कई लोग बैठे हैं. गाड़ी सावधानी से चलाया करो. ऐसा मत करो भले 5 मिनट लेट हो जाएं.

अंत में शिवराज को धन्यवाद : भोपाल आये ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा-भोपाल मेरा अपना शहर है. इसलिए आता रहता हूं. बीजेपी की नई कार्यसमिति के बारे में कहा पूरी पार्टी एक है. अपने समर्थकों को उसमें जगह दिये जाने पर सिंधिया ने सीएम शिवराज को धन्यवाद दिया. साथ ही ये भी कहा कि सरकार की नीतियों के कारण ही इतनी जल्दी कोरोना पर नियंत्रण पाया जा सका.

 

आगे पढ़े

Spread the love
More from मध्यप्रदेशMore posts in मध्यप्रदेश »