Press "Enter" to skip to content

प्रियंका का प्रधानमंत्री पर हमला- शुक्र है हमने कुछ बनाया, तभी तो आप बेच पा रहे हैं…

0

 12 total views

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि केंद्र में जैसे ही उनकी पार्टी की सरकार आएगी सबसे पहलूे तीनों कृषि कानूनों को रद्द किया जाएगा। ये सिर्फ अंहकारी प्रधानमंत्री ही नहीं, कायर प्रधानमंत्री भी हैं। कोई भी जिम्मेदारी नहीं लेते, हर बात के लिए पीछे की सरकारों को दोषी ठहराते हैं। प्रधानमंत्री को चाहिए कि जनता की बात को स्वीकारें और तीनों कृषि कानूनों को वापस लें। जब डीजल पैट्रोल के दाम बढाये तो भी कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार को मथुरा के पालीखेड़ा मैदान में किसान महापंचायत को संबोधित कर रही थीं। नए कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन को कांग्रेस समर्थन कर रही है।

उन्होंने कहा कि हम दो हमारे दो के नारा इस सरकार ने सार्थक किया है। लालबहादुर शास्त्री ने जय जवान जय किसान के नारे दिये थे। ये नारे इस देश की मांटी को परिभाषित करते थे। कांग्रेस ने इस देश को आत्मनिर्भर बनाया। अंतराष्ट्रीय स्तर पर भारत का मान बढाया। कांग्रेस ने मनरेगा लागू किया। भूमि अधिग्रहण कानून के माध्यम से चार गुना मुआवजे का प्रावधान रखा।

राधे राधे से अपना संबोधन शुरू करते हुए उन्होंने कहाकि यह धरती अहंकार को तोडती है। भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को उठा कर लोगों की रक्षा की थी। आज भाजपा सरकार ने भी अन्नदाता के लिए अंकार पाल लिया है। भगवान श्रीकृष्ण इस सरकार का अहंकार भी तोडेंगे। सरकार की निजीकरण की नीति पर हमला बोलते हुए तंज कसा कि शुक्र है किह हमन कुछ बनाया तभी तो आप बेच पा रहे हैं। लॉकडाउन में जब मजबूरी में लोग अपने घरों को जा रहे थे तब इन्होंने क्या किया।

देश के लाखों किसानों ने इस देश को सींचा है। वही किसान आज सडक पर बैठा है। 215 किसान शहीद हो गये। प्रधानमंत्री अपने शासनकाल में दुनियां के हर कौने में पहुंचे लेकिन दिल्ली की सीमा पर बैठे किसानों तक नहीं पहुंचे। जब नेता का अहंकार इतना बढ जाता है कि वह जनता से अलग हो जाता है तो उसकी नीतियां भी जनता के लिए नहीं बनती हैं। 15 हजार करोड देश भर के गन्ना किसानों का बकया है। प्रधानमंत्री ने अपने लिए जो विमान खरीदे हैं उनकी कीमत 16 हजार करोड रूपये है। यह इनकी नीयत है इसे समझ लीजिये। हमने कुछ बनाया तभी तो आप बेच पा रहे हैं। उन्होंने कहाकि बचा लो कहीं गोवर्धन पर्वत को ही न बेच डाले भाजपा। पाली खेडा पर आयोजित हुई कांग्रेस की किसान पंचायत को विवेक बसंल, दिपेन्द्र हुण्डा, पंकज मलिक, अनिल चैधरी, हरेंद्र अग्रवाल, नसीमुद्दी सिद्दकी, प्रदीप मथुरा आदि ने भी सभा को संबोधित किया।

ऐसे समझाया प्रियंका गांधी ने कृष कानूनों को

खरबपति आपके साथ सौदा करने आएंगे। ये कांट्रेक्ट पर ख्ेाती करेंगे। यह कांट्रेक्ट कैसे होगा यह भी बताया, आपने खेती की, गैहूं तैयार किया और जब आप खरबपति के पास जाएंगे, कानून अनुमति देती है कि यह खरबपति आपको फसल खरीदने से मना कर सकता है। यह ऐसा कानून है कि अगर कांट्रैक्टर ने आप से करार तोड दिया तो आप अदालत नहीं जा सकते। सिर्फ एसडीएम तक आपकी सुनवाई होगी। एक तरफ किसान और दूसरी तरफ खरबपति ऐसे में आपको न्याय कभी नहीं मिलेगा। कानून बनाने का मकसद कुछ अलग है। प्रधानमंत्री कह रहे हैं कि विपक्ष गुमराह कर रहा है। काननू बनाने से पहले किसानों कोनहीं पूछा। यह कानून किसी नोटों की खेती करने वाले ने बनाया है। खेती करने वालों ने नहीं बनाया है। यह कानून सिर्फ अरबपतियों के लिए बना है।

स्मार्ट मीटर से गोशालाओं तक का किया जिक्र
प्रियंका गंधी ने अपने संबोधन में स्थानीय मुद्दों का भी जिक्र किया। बिजली के स्मार्ट मीटर से लेकर राधाकुंड की गोशाला तक पर बात की। उन्होंने आवारा गोवंश और इससे हो रही किसानों की परेशानी को भी उठाया। महापंचायत के लिए आईं प्रियंका गांधी वाड्रा जब मंच पर पहुंचीं तो कार्यकर्ताओं ने उनका नारे लगाकर जोरदार स्वागत किया। प्रियंका के आते ही समूचे पंडाल में एक नई ऊर्जा का संचार हो गया। जब प्रियंका गांधी महापंचायत के लिए आईं तो रास्ते मे मौजूद कार्यकर्ताओं और किसानों ने उनका जोरदार स्वागत किया। यमुना एक्सप्रेस वे होकर सडक मार्ग से प्रियंका गांधी का काफिला सभा स्थल पर पहुंचा। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल और एसएसपी डा.गौरव ग्रोवर ने खुद उस मार्ग का निरीक्षण किया जिससे होकर प्रियंका गांधी का काफिला गुजरा। इस दौरान मार्ग पर पुलिस बल मुस्तैद रहा।

बांकेबिहारी के दर्शन कर की राष्ट्र कल्याण की कामना
महापंचायत के बाद उन्होंने वृदावन में ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर पहुंचीं। प्रियंका गांधी ने ठाकुर बांके बिहारी मंदिर में पूजा-पाठ की। उन्होंने मंदिर की विजटर डायरी में संस्मरण लिखते हुए आराध्य से राष्ट्र कल्याण की कामना की। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। प्रियंका गांधी के बांकेबिहारी मंदिर में पूजा अर्चना करने के दौरान सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रखी गई।

लोगों ने उठाया रागिनी का आनंद
प्रदेश महासचिव प्रियंका गांधी के सभा स्थल पर पहुंचने से पहले ही बडी संख्या में लोगों की भीड पाण्डाल में जुट गई थी। भीड का मनोरंजन करने और लोककला के माध्यम से विरोधियों पर कटाक्ष करने के लिए रागिनी कलाकारों को बुलाया गया था। पाण्डाल में जुटी भीड ने जमकर रानिगी का आनंद लिया।

उत्साहित दिखे कांग्रेसी
प्रियंका गांधी की सभी में पहुंची भीड को देख कर कांग्रेसियों में उत्साह नजर आ रहा था। छात्र संगठन एनएसयूआई और युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सभा स्थल पर उत्साह में जमकर नारेबाजी की। इस दौरान पुराने कांग्रेसी कई बार यह कहते हुए दिखे कि इस तरह का नजारा और कांग्रेसियों में उत्साह बहुत दिनों के बाद देखने को मिल रहा है।

आगे पढ़े

Spread the love

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.