Press "Enter" to skip to content

कोरोना महामारी के दौर में इंदौर पुलिस की सेवा को सैल्यूट…..

21

 120 total views

इंदौर. कोरोना संक्रमण से जूझती इंदौर पुलिस (Indore Police) फिर जरुरत मंदों के लिए फरिश्ता बन गयी है. फिर वही कोरोना है और फिर वही पिछले साल वाले हालात हैं. जगह-जगह लॉक डाउन है और मजदूरों (Labours) का पलायन शुरू हो गया है. इन सब कठिन हालात में पुलिस सबकी मदद कर रही है.

कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण बाहरी राज्यों से एक बार फिर बड़ी संख्या में पलायन शुरू हो गया है. कुछ इलाकों में लॉक डाउन है तो कही अधिक संक्रमण होने की वजह से काम काज ठप्प पड़े हुए हैं. लिहाजा ऐसे में मजदूरों की खासी फजीहत हो रही है. बड़ी संख्या में महाराष्ट्र और उसके आस पास के इलाकों के लोग घर लौट रहे हैं. आगरा बॉम्बे हाईवे पर इन्हें देखा जा सकता है. कोई अपने ऑटो टैक्सी से तो कुछ सायकिल या पैदल ही सड़क नाप रहे हैं. जब बड़ी संख्या में पलायन करने वाले दिखाई दिए तो राऊ थाना प्रभारी नरेंद्र रघुवंशी ने एक हजार वर्गफीट के इलाके में टेंट लगवाया. वहां आते जाते मजदूरों से ठहर कर कुछ देर आराम करने का अनुरोध किया. इनके लिए भोजन पानी, चाय बिस्किट इंतज़ाम किया गया है एक ऐसी भी तस्वीर देखने मिली जब महाराष्ट्र से सटे खेतिया से एक युवक साइकिल से अपने घर दरभंगा लौट रहा था. उसकी चप्पल टूटी हुई थी और जेब मे महज 400 ₹ थे. थाना प्रभारी रघुवंशी ने एक ट्रक चालक के साथ उसे उसके घर भिजवाया.उसका किराया और रास्ते में खर्च के लिए पैसे दिये.

राउ थाना प्रभारी नरेंद्र रघुवंशी के मुताबिक बायपास पर बड़ी संख्या में पलायन करने वाले नजर आ रहे थे. बायपास पर टेंट लगाकर विश्राम स्थल तैयार किया गया है. इसी तरह पलायन के दौरान एक बच्ची को पैर में चोट लग गई. घायल बच्ची को पुलिस ने नजदीक के हॉस्पिटल में भेजकर इलाज करवाया. पुलिस के विश्राम स्थल पर प्रवासी मजदूरों का आना-जाना लगातार बना हुआ है.

आगे पढ़े

Spread the love