Press "Enter" to skip to content

मादक पदार्थों तथा नशीली दवाओं के विरूद्ध जन जागरूकता का चलेगा विशेष अभियान 

-घर-घर, स्कूल-कॉलेजों तथा गाँव-गाँव जाकर दुष्प्रभावों की दी जायेगी जानकारी
-कलेक्टर मनीष सिंह ने ली समीक्षा बैठक
इन्दौर। इन्दौर जिले में मादक पदार्थों तथा नशीली दवाओं के सेवन के विरूद्ध जन जागरूकता का विशेष अभियान चलाया जायेगा। यह अभियान नशा मुक्त भारत अभियान के तहत संचालित होगा। इस अभियान के अन्तर्गत घर-घर, स्कूल-कॉलेजों तथा गाँव-गाँव तक इनके दुष्प्रभावों की जानकारी दी जायेगी। युवा पीढ़ी को विशेष रूप से जागरूक किया जायेगा कि वे स्वयं तो इस नशे से दूर रहें, साथ ही अपने साथियों को भी दूर रखने के लिये जागरूक बनायें।
यह जानकारी आज यहाँ कलेक्टर श्री मनीष सिंह द्वारा ली गई समीक्षा बैठक में दी गई। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती वंदना शर्मा तथा सामाजिक न्याय विभाग की संयुक्त संचालक श्रीमती सुचिता बेक तिर्की सहित अन्य अधिकारी और स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
बैठक में कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कहा कि यह अभियान वर्तमान समय की सबसे बड़ी जरूरत है। अभियान केन्द्र और राज्य शासन की प्राथमिकता का भी अभियान है। इस अभियान को पूर्ण गति के साथ प्रभावी रूप से आयोजित किया जाये। इस अभियान से जुड़े सभी विभागों के अधिकारी पूर्ण समन्वय से कार्य करें। वे अपने-अपने दायित्वों का समाज हित में संवेदनशीलता के साथ निर्वहन करें। भविष्य की पीढ़ी का जीवन सुरक्षित बनायें। उन्होंने कहा कि आज के समय में अनेक प्रकार के मादक पदार्थ और नशीली दवाओं का प्रचलन है, इनके सेवन पर जहाँ प्रशासन द्वारा सख्ती से रोक लगाई जा रही है, वहीं दूसरी ओर इसके सेवन के संबंध में जन जागरूकता भी लाना अत्यंत जरूरी है। युवा पीढ़ी भटकाव की राह पर नहीं जाये, इसके लिये स्कूलों और कॉलेजों में जन जागरूकता के कार्यक्रम विशेष रूप से आयोजित किये जाये। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि वे दस्तक अभियान के अन्तर्गत घर-घर जा रहे स्वास्थ्य विभाग के अमले के माध्यम से मादक पदार्थों और नशीली दवाओं के सेवन के विरूद्ध जन जागरूकता लायें। घर-घर वे दुष्प्रभावों की जानकारी भी आम जन को देवें। उन्होंने इस अभियान में आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, आशा कार्यकर्ताओं तथा पंचायत सचिवों की सहभागिता के निर्देश भी दिये।
इस अभियान का मुख्य उद्देश्य समाज में बढ़ती हुई मद्यपान तथा नशीली दवा, मादक पदार्थों के दुष्परिणामों से युवाओं, विद्यार्थियों एवं समाज को अवगत कराया जाकर, नशा सेवन प्रवृत्ति की रोकथाम हेतु जनजागृति एवं चेतना निर्माण किया जाना है।
भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा नशामुक्त भारत अभियान प्रारंभ किया गया है, जिसमें नशीली दवाओं की मांग में कमी लाने हेतु विभिन्न कार्यक्रमों को सम्मिलित किया गया है।
अभियान के तहत जनजागृति हेतु रैली/नुक्कड़ नाटकों का मंचन, स्थानीय विद्यालयों में नशामुक्ति विषयक प्रतियोगितायें/प्रश्न मंच का आयोजन, ग्राम सभाओं में नशामुक्ति ग्राम बनाने संबंधी प्रस्ताव, ग्राम स्तर/नगर स्तर पर स्थानीय स्तर पर व्हाट्सएप ग्रुप में नशामुक्ति का संदेशों एवं लघु फिल्मों को प्रसारित करने, स्व-सहायता समूह/शौर्यदलों द्वारा नशामुक्ति अभियान, ग्राम स्तर/नगर स्तर पर स्थानीय स्तर पर नशामुक्ति अभियान हेतु स्थानीय वॉलेंटियर तैयार करने, नशामुक्ति पर आधारित पोस्टर प्रदर्शनी तथा नशाबंदी साहित्य, पोस्टर, पम्पलेट आदि का वितरण करने जैसी अनेक गतिविधियां होगी।

Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: